Sunday, November 27, 2022
spot_imgspot_img
HomeBusinessआयकर विभाग ने आईटीआर सत्यापन के लिए फरवरी 2022 तक दिया वक्त

आयकर विभाग ने आईटीआर सत्यापन के लिए फरवरी 2022 तक दिया वक्त

spot_imgspot_img

जिन करदाताओं ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए अपने आयकर रिटर्न का अभी तक ई-सत्यापन नहीं किया है, वे सत्यापन की प्रक्रिया को 28 फरवरी 2022 तक पूरा कर सकते हैं।  आयकर विभाग ने करदाताओं को राहत देते हुए सत्यापन की समयसीमा को आगे बढ़ाया है। 

कानून के मुताबिक डिजिटल हस्ताक्षर के बिना इलेक्ट्रॉनिक रूप से आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल करने पर उसका आधार ओटीपी, नेटबैंकिंग, डीमैट खाते के जरिए भेजे गए कोड, पूर्व-मान्य बैंक खाते या एटीएम से सत्यापन करना होता है। यह सत्यापन आयकर रिटर्न दाखिल करने के 120 दिनों के भीतर करना जरूरी है। 

 इसके अलावा आयकरदाता बेंगलुरू में केंद्रीकृत प्रसंस्करण केंद्र (सीपीसी) कार्यालय में आईटीआर की एक भौतिक प्रति भेजकर सत्यापन भी कर सकते हैं। यदि सत्यापन की प्रक्रिया पूरी नहीं होती है, तो यह माना जाता है कि रिटर्न दाखिल नहीं किया गया है।

अब तक कुल  4,86,34,306 ITR फाइल किए गए

वहीं, एसेसमेंट ईयर 2020-21 के लिए 28.12.2021 तक कुल  4,86,34,306 ITR फाइल किए गए हैं, जिसमें 18,89,057ITRs उसी दिन दाखिल किए गए हैं। आयकर विभाग ने बुधवार को कहा कि 28 दिसंबर तक 4.86 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न दाखिल किए जा चुके हैं, जिसमें से सिर्फ 28 दिसंबर को करीब 19 लाख रिटर्न दाखिल हुए। व्यक्तिगत करदाताओं के लिए वित्त वर्ष 2020-21 के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख 31 मार्च 2021 है। आयकर विभाग ने ट्वीट किया कि  2.50 करोड़ से अधिक आईटीआर-1 और 1.23 करोड़ से अधिक आईटीआर-4 शामिल हैं। आईटीआर-1 (सहज) और आईटीआर-4 (सुगम) रिटर्न फार्म के सरल रूप हैं, जिनका बड़ी संख्या में छोटे और मझोले करदाता इस्तेमाल करते हैं।

अबतक 1.49 लाख करोड़ रुपये का कर रिफंड जारी

आयकर विभाग ने चालू वित्त वर्ष में अबतक 1.45 करोड़ करदाताओं को 1.49 लाख करोड़ रुपये का कर रिफंड जारी किया है। विभाग ने मंगलवार को यह जानकारी दी। आयकर विभाग ने ट्वीट कर कहा कि इसमें आकलन वर्ष 2021-22 (31 मार्च, 2021 को समाप्त वित्त वर्ष) के लिए जारी किए गए 21,021 करोड़ रुपये के 1.07 करोड़ रिफंड भी शामिल हैं। विभाग ने बताया कि 27 दिसंबर तक वित्त वर्ष 2020-21 के लिए 4.67 करोड़ से अधिक आयकर रिटर्न दाखिल किए गए हैं।

विभाग ने ट्वीट में कहा कि 1.42 करोड़ इकाइयों को 50,793 करोड़ रुपये का आयकर रिफंड किया गया है। इसी तरह 2.19 लाख मामलों में 98,504 करोड़ रुपये का कॉरपोरेट कर वापस किया गया है। विभाग ने कहा, ”केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने एक अप्रैल, 2021 से 27 दिसंबर, 2021 के दौरान 1.45 करोड़ करदाताओं को 1,49,297 करोड़ रुपये का कर रिफंड किया है।

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments