Saturday, October 8, 2022
spot_imgspot_img
HomePoliticalकांग्रेस में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की भूमिका को लेकर राजीनीति शुरू

कांग्रेस में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की भूमिका को लेकर राजीनीति शुरू

spot_imgspot_img

कांग्रेस में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की भूमिका और पार्टी के पुनरुद्धार की उनकी योजना पर चल रही चर्चाओं के बीच, जी-23 नेताओं के एक वर्ग ने कांग्रेस संगठन में तीव्र विभाजन के संकेत दिए हैं। ये संकेत ऐसे समय में आए हैं जब प्रशांत किशोर के साथ सोनिया गांधी व अन्य नेताओं की चर्चा के दौरान जी-23 के नेताओं को शामिल नहीं किया जा रहा है।

जी-23 में कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता, पूर्व मंत्री और मौजूदा सांसद शामिल हैं। इन सदस्यों में से कोई भी प्रशांत किशोर द्वारा प्रस्तावित कांग्रेस के सुधार के रोडमैप या पार्टी में रणनीतिकार की भविष्य की भूमिका पर चर्चा में शामिल नहीं हुए हैं।

जी-23 के एक वरिष्ठ सदस्य ने कहा, “हमारे बहिष्कार और अपमान के बाद, एक गहरा विभाजन और गहरा अविश्वास दिखाई दे रहा है। जब हमें पार्टी के पुनरुद्धार से संबंधित चर्चा प्रक्रिया में बाहर रखना था, तो कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा समूह के साथ सुलह बैठकें करने का क्या मतलब था? अब यह देखा जाना बाकी है कि क्या कम से कम कुछ जी-23 नेता फिर से बात करने को तैयार होंगे।”

एक सूत्र ने प्रशांत किशोर के प्रस्तावों पर चर्चा कर रही सोनिया द्वारा गठित समिति पर सवाल उठाते हुए कहा कि मई में होने वाले पार्टी के “चिंतन शिविर” से पहले जी-23 के वरिष्ठ नेताओं के एक वर्ग के बीच ‘अपमान’ के संकेत कोई भी आकार ले सकते हैं।

जी-23 के एक नेता ने पैनल से किसी भी लोकसभा सदस्य की अनुपस्थिति का मुद्दा उठाते हुए पूछा कि क्या कांग्रेस में निर्वाचित प्रतिनिधियों के विचार मायने रखते हैं या नहीं। समिति में दिग्गज एके एंटनी, अंबिका सोनी, मल्लिकार्जुन खड़गे, दिग्विजय सिंह, मुकुल वासनिक और रणदीप सुरजेवाला शामिल हैं। जी-23 के खेमे में गुस्से के बीच, यह देखना बाकी है कि क्या किशोर को कांग्रेस में शामिल किए जाने पर समूह प्रतिरोध करेगा या नहीं।

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments