Sunday, July 3, 2022
spot_imgspot_img
HomeNationalकृषि कानूनों के विरोध पर बोले PM मोदी, अस्थिरता के लिए हो...

कृषि कानूनों के विरोध पर बोले PM मोदी, अस्थिरता के लिए हो रहे षड्यंत्र, बताया कौन कर रहे विरोध

spot_imgspot_img

भारतीय जनता पार्टी ने बीते 41 सालों में देश के हर राज्य तक अपनी पहुंच कायम की है और इसके लिए कई पीढ़ियां खप गई हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने बीजेपी के स्थापना दिवस के मौके पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह बात कही। इस दौरान उन्होंने लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का जिक्र करते हुए कहा कि हमें ऐसे लोगों के आशीर्वाद से पार्टी आगे बढ़ी है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के लिए हमेशा से यह मंत्र रहा है कि व्यक्ति से बड़ा दल और दल से बड़ा देश। यह परंपरा श्यामा प्रसाद मुखर्जी से लेकर आज तक चली आ रही है।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी के विचारों की ही शक्ति है कि हम उनके सपने को पूरा कर पाए और जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटा। इसी तरह अटल बिहारी वाजपेयी ने एक वोट से सरकार गिरना स्वीकार कर लिया, लेकिन पार्टी के मूल्यों से समझौता नहीं किया। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने बीते 7 सालों में केंद्र की अपनी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने पीएम किसान सम्मान निधि योजना और नए कृषि कानूनों के जरिए किसानों की स्थिति में सुधार किया है। 

इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि बीजेपी के कार्यकर्ताओं को समझना होगा कि आजकल गलत नैरेटिव गढ़ जा रहे हैं। सीएए से लेकर कृषि कानून तक गलत धारणाएं गढ़ी जा रही हैं। ये लोग अपनी पराजय को स्वीकार न कर पाने की वजह से ऐसी धारणाएं बना रहे हैं। वहीं कुछ लोग अपने राजनीतिक लाभ के लिए ऐसा कर रहे हैं। इसके अलावा कुछ ऐसे लोग भी हैं, जिनकी बीजेपी से जन्मजात दुश्मनी है। इन लोगों की फैलाई अफवाहों से हमारे कार्यकर्ताओं को सावधान रहना होगा और लोगों के बीच सही बात लेकर जाना होगा। उन्होंने कहा कि देश में कभी संविधान बदलने और कभी आरक्षण को खत्म करने की अफवाहें फैलाई जाती हैं।

हम जीतते हैं तो चुनाव मशीन कहा जाता है और दूसरों की जीत पर होती है तारीफ

पीएम मोदी ने कहा कि अब तक सरकारों के ऐलान से उनका आकलन होता है, लेकिन हमारी सरकार का रिपोर्ट कार्ड डिलिवरी से देखा जा रहा है। नीति, नीयत से लेकर डिलिवरी तक हमने मजबूती से काम किया है। इस दौरान उन्होंने बीजेपी की चुनावी जीत पर सवाल उठाने वालों पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि बीजेपी जब चुनाव जीतती है तो उसे चुनाव जीतने की मशीन बताया जाता है और जब दूसरी पार्टी जीतती है तो उनकी प्रशंसा की जाती है। उन्होंने कहा कि बीजेपी को जीत पर चुनावी मशीन करार देना देशवासियों की सूझबूझ का अपमान है। बीजेपी चुनाव जीतने की मशीन नहीं बल्कि दिल जीतने की मशीन है। 

‘गांव से शहरों तक पहुंची है बीजेपी, हम जीत नहीं देश पर गर्व करते हैं’

उन्होंने कहा कि हम पूरे 5 साल तक जनता से जुड़े रहते हैं और उनके लिए जीते हैं। इसके बाद हम जब चुनाव में जाते हैैं तो लोगों का समर्थन मिलता है। हम इस बात का गर्व नहीं करते कि हमारी पार्टी जीती। हम इस बात का गर्व करते हैं कि देश को लोगों ने हमें जिताया है। पीएम मोदी ने कहा कि आज हमारी पार्टी गांवों से लेकर शहरों तक में है। राष्ट्रीय हितों के साथ ही हमारी पार्टी क्षेत्रीय आकांक्षाओं की भी पार्टी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने पद्म पुरस्कारों में सुधार किया है और ऐसे लोगों को सम्मान दिए हैं, जिनके कामों को पहचान नहीं मिल पा रही थी। 

‘क्षेत्रीय पार्टियों के चेहरे से उतरा सेकुलरिज्म का नकाब’

प्रधानमंत्री ने कहा कि पार्टी के लिए सैकड़ों कार्यकर्ता पार्टी के लिए बलिदान दे चुके हैं। पश्चिम बंगाल और केरल जैसे राज्यों में हमारे कार्यकर्ताओं को धमकियां दी जाती हैं। उनके परिवार पर हमले होते हैं। फिर भी एक विचार के लिए डटे रहना और उसके लिए संकल्प के साथ आगे बढ़ना ही हमारी पार्टी की विशेषता है। आज परिवारवाद का हश्र भी देश देख रहा है। स्थानीय आकांक्षाओं के साथ खड़ी हुई पार्टियां भी परिवार तक केंद्रित रहीं। इनके सेकुलरिज्म का नकाब उतर गया है। हमारे यहां सेकुलरिज्म का अर्थ कुछ ही लोगों की नीतियां बनाने से रह गया है। लेकिन जो सबको साथ लेकर चलता है, उसे ये लोग सांप्रदायिक करार देते हैं।

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments