Monday, June 24, 2024

कैल्शियम की टेबलेट खाने वाले हो जाए सतर्क! ये बना सकता है आपको इन बिमारियों का शिकार

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

आजकल ज्यादातर लोग रोज़ाना कैल्शियम टेबलेट खाते है ये सोचकर की वो उनके शरीर के लिए फायदेमंद है, लेकिन उन्हें ये नहीं पता की ऐसा करना उनके जीवन के लिए कितना नुकसानदायक है, अगर आप भी कैल्शियम टेबलेट रोज़ाना खाते है तो हो जाएं सतर्क, क्यूंकि ये टेबलेट शरीर के लिए बहुत हानिकारक है खासकर उन लोगों के लिए जो डीएबीटीज से जूझ रहे हों, ये आपके हार्ट को भी नुकसान पहुँचाता है, और कई प्रकार के खतरों से आपके शरीर को घेर कर रखता है।

हाल ही में हुए एक अध्ययन में ये पता चला है की जो लोग डायबिटीज के शिकार हैं यदि वे लम्बे समय तक कैल्शियम की टेबलेट का इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें हार्ट से जुड़ी बीमारियां हो सकती हैं, साथ ही इसका ज्यादा से ज्यादा सेवन किसी की मौत का भी कारण बन सकता है, और एक रिपोर्ट में ये माना गया है की जिनको डायबिटीज है उनकी मौत का खतरा इस कैल्शियम की टेबलेट को खाकर 60 प्रतिशत तक बढ़ सकता है. लोगों को ऐसा लगता है की इसका सेवन करने से शरीर को लाभ मिलेगा लेकिन ऐसा नहीं है, इसका जरूरत से ज्यादा प्रयोग करने से ये आपके शरीर को ही नुकसान पहुंचाएगा।

महिलाओं को इससे क्या है खतरा?

एस्ट्रोजेन का महिलाओं के हार्ट पर सुरक्षात्मक प्रभाव पड़ता है जिसकी वजह से महिलाओं के हार्ट में मोनोपॉज से पहले दिल से जुड़े रोगों और बिमारियों का खतरा कम होता है. इसलिए कोशिश करें की महिलाओं को कैल्शियम की टेबलेट नहीं खानी चाहिए खासकर मोनोपॉज के दौरान।

सही विकल्प कैसे चुने?

अब आप सबके मन में ये सवाल जरूर आ रहा होगा की आखिर शरीर में कैल्शियम की कमी को कैसे दूर किया जाए, तो बतादें की दूध एक ऐसा विकल्प है जो सबके घरों में मौजूद भी होता है और साथ ही काफी किफायती भी होता है, और इतना ही नहीं आपको बतादें की 500 मिलीग्राम कैल्शियम एक गिलास दूध के अंदर मौजूद होता है, जो की बच्चों, महिलाओं, पुरषों और बुजुर्गों के लिए पर्याप्त होता है, और यदि आप दूध से परहेज करते हैं तो आप तिल के बीज या सूरजमुखी के बीज का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights