Home National कोरोना के नए मामलों के कारण बढ़ी सख्ती, जानें कश्मीर से कन्याकुमारी...

कोरोना के नए मामलों के कारण बढ़ी सख्ती, जानें कश्मीर से कन्याकुमारी तक का हाल

पांच राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के बाद चिंता बढ़ गई है। इसे देखते हुए कश्मीर से कन्याकुमारी तक राज्यों ने बाहरी राज्यों से आने वालों को लेकर सख्ती अपनानी शुरू कर दी है। आपको बता दें कि देश में कोरोना वायरस (कोविड-19) के नये मामलों की तुलना में स्वस्थ लोगों की संख्या में गिरावट होने से सक्रिय मामलों में गुरूवार को वृद्धि का सिलसिला जारी रहा और अब यह डेढ़ लाख के पार पहुंच गए है।

विभिन्न राज्यों से देर रात तक प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक देश में गत 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 16,294 नये मामले सामने आये और संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर एक करोड़ 10 लाख 62 हजार 770 हो गया है। सक्रिय मामलों की संख्या अब 1,52,984 हो गयी है। इस दौरान 11,810 मरीज स्वस्थ हुए जिसे मिलाकर कोरोना मुक्त होने वालों की संख्या एक करोड़ सात लाख 48 हजार 366 हो गयी है। इसी अवधि में 109 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर एक लाख 56 हजार 851 हो गया। देश में रिकवरी दर घटकर 97.21 और सक्रिय मामलों की दर बढ़कर 1.37 प्रतिशत हो गयी है जबकि मृत्युदर अभी 1.42 फीसदी है।

जानिए किस राज्य में क्या पाबंदियां लागू की गई हैं:

दिल्ली : राजधानी दिल्ली में पिछले 24 घंटे के दौरान नये मामलों की तुलना में स्वस्थ मरीजों की संख्या में गिरावट होने के कारण सक्रिय मामले बढ़कर 1,160 के पार पहुंच गये। आज सक्रिय मामले 32 और बढ़कर 1,169 पहुंच गये। राजधानी में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या में कमी होने से सक्रिय मामलों में यह वृद्धि दर्ज की गयी है। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार इस अवधि में 220 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 6,38,593 तक पहुंच गयी है जबकि 188 और मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोना मुक्त लोगों की संख्या बढ़कर 6,26,519 हो गयी। राजधानी में मरीजों के स्वस्थ होने की दर आज आंशिक कमी के साथ 98.10 फीसदी पहुंच गयी। राष्ट्रीय राजधानी में महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और पंजाब से रेल, बस या हवाई जहाज से आने पर निगेटिव जांच रिपोर्ट लानी होगी। यह सख्ती 15 मार्च तक लागू है।

बिहार: राज्य में सक्रिय मामले 477 हो गये हैं। राज्य में कोरोना से 1,539 लोगों की मौत हुई है जबकि 2,60,401 मरीज संक्रमणमुक्त हो चुके हैं। भीड़ को जमा होने से रोकने के लिए सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। छोटे कंटेनमेंट क्षेत्रों की पहचान कर लॉकडाउन लगाने के निर्देश दिए गए हैं।

पंजाब: पंजाब में सक्रिय मामले बढ़कर 3,870 हो गये हैं तथा संक्रमण से निजात पाने वालों की संख्या 1,70,713 हो गई है जबकि 5,799 मरीजों की जान जा चुकी है। एक मार्च से 200 से अधिक की संख्या में भीड़ जुटाने पर पाबंदी है। किसी एक व्यक्ति के संक्रमित पाए जाने पर उसके संपर्क में आए 15 लोगों की जांच जरूरी होगी।

मध्य प्रदेश : मध्य प्रदेश में सक्रिय मामले 2435 हो गये हैं तथा अब तक 2.54 लाख से ज्यादा लोग स्वस्थ हो चुके हैं जबकि 3,859 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र की सीमा से लगते जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र से आने पर निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी।

महाराष्ट्र : महाराष्ट्र में इस दौरान सर्वाधिक सक्रिय मामलों में 4,900 से अधिक की वृद्धि होने से इनकी संख्या बढ़कर 64,260 तक पहुंच गयी। राज्य में इस दौरान संक्रमण के सवार्िधक (पूरे देश में) 8,702 नये मामले सामने आने से संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 21,29,821 पहुंच गयी है। इस अवधि में 3,744 मरीजों के स्वस्थ होने से इस संक्रमण से निजात पाने वालों की संख्या बढ़कर 20,12,367 हो गयी है तथा 56 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा 51,993 तक पहुंच गया। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अमरावती में एक हफ्ते का सख्त लॉकडाउन। नागपुर में स्कूल-कॉलेज बंद हैं। बुलढाणा जिले में आंशिक बंदी लागू। जरूरी सेवाओं को छूट दी गई है।

कर्नाटक : पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के नये मामलों के मुकाबले स्वस्थ होने वालों की संख्या में वृद्धि होने से सक्रिय मामलों में फिर 500 से अधिक की कमी दर्ज की गयी है। राज्य में आज 453 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9.49 लाख से अधिक हो गयी लेकिन राहत की बात यह है कि स्वस्थ होने वालों की संख्या में कमी होने से सक्रिय मामले घटकर 5,570 के करीब पहुंच गये। महाराष्ट्र, केरल से आने वालों को जांच रिपोर्ट देनी होगी। शादी हॉल और सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ जमा न हो इसके लिए मार्शल तैनात किए गए। 

केरल : देश का दक्षिणी राज्य केरल में कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या 989 घटकर 51,000 के करीब पहुंच गयी। राज्य पिछले 24 घंटों के दौरान दर्ज सक्रिय मामलों की कुल संख्या पूरे देश में महाराष्ट्र के बाद सवार्िधक है। सबसे गंभीर रूप से प्रभावित महाराष्ट्र में कुल 64,260 सक्रिय मामले हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राज्य में इस दौरान संक्रमण के 3,677 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 10,48,687 पहुंच गयी और 4,652 लोगों के स्वस्थ होने से इस वायरस से निजात पाने वालों की कुल संख्या 9,92,372 हो गयी। इसी अवधि में 14 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 4,151 हो गयी है। केरल में मास्क नहीं पहनने वालों पर सख्त जुर्माना लगाया जा रहा है।

तमिलनाडु : तमिलनाडु में सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 4,053 रह गयी है तथा अभी तक 12,483 लोगों की मौत हुई है। राज्य में 8,33,560 मरीज संक्रमणमुक्त हुए हैं। यहां केरल से आने वालों को निगेटिव जांच रिपोर्ट दिखानी होगी। चेन्नई, कोयंबटूर, चेंगलपट्टू में अनिवार्य जांच और सीमाई जिलों में थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है।

छत्तीसगढ़: दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश से आने वालों और उनके संपर्क में आए लोगों की जांच होगी।

पश्चिम बंगाल: पश्चिम बंगाल में कोरोना के सक्रिय मामले 3,353 रह गये हैं और 10,260 लोगों की मौत हुई है। राज्य में अब तक 5,60,887 लोग स्वस्थ हुए हैं। जिन जगहों पर नए मामले मिल रहे हैं वहां कंटेनमेंट जोन बनाए जा रहे हैं। तेलंगाना, महाराष्ट्र, केरल व कर्नाटक से आने वाले हवाई यात्रियों के लिए आरटी पीसीआर जांच जरूरी है।

लद्दाख : केंद्र शासित प्रदेश में कोरोना निगेटिव रिपोर्ट लाने पर ही प्रवेश की अनुमति होगी।

हिमाचल प्रदेश : लाहौल स्पीति आने वालों को अनिवार्य तौर पर आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट दिखानी होगी।

उत्तराखंड : बाहरी राज्यों जैसे महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, गुजरात, केरल, मध्यप्रदेश से आने वालों को निगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट जरूरी होगी।

मेघालय-मिजोरम: हवाई यात्रा करने वालों को या तो आरटी पीसीआर जांच रिपोर्ट दिखानी होगी या एयरपोर्ट पर जांच करानी होगी। 

मणिपुर: छत्तीसगढ़, केरल, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र से आने वालों की सीमा पर अनिवार्य जांच। 

त्रिपुरा : राज्य में आने वाले सभी लोगों को आरटी पीसीआर जांच कराना अनिवार्य।

कोरोना महामारी से अब तक हरियाणा में 3043, राजस्थान में 2785, जम्मू-कश्मीर में 1955, ओडिशा में 1968, उत्तराखंड में 1690, असम में 1091, झारखंड में 1087, हिमाचल प्रदेश में 982, गोवा में 791, पुड्डुचेरी में 667, त्रिपुरा में 388, मणिपुर में 373, चंडीगढ़ में 351, मेघालय में 148, सिक्किम में 135, लद्दाख में 130, नागालैंड में 91, अंडमान निकोबार द्वीप समूह में 62, अरुणाचल प्रदेश में 56, मिजोरम में 10 तथा दादर-नागर हवेली एवं दमन-दीव में दो लोगों की मौत हुई है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments