Wednesday, February 28, 2024

झारखंड के राजनितिक में मचा उथल पुथल , हेमंत सोरेन को ED ने किया गिरफ्तार ….

- Advertisement -

झारखंझारखंड के राजनितिक में उथल पुथल देखने को मिल रहा है,आपको बता दे ,हेमंत सोरेन ने झारखंड के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। वही अब ईडी द्वारा की गिरफ्तारी से पहले हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी से पहले एक वीडियो संदेश सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो में उन्होंने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) मुझे आज गिरफ्तार करेगी, लेकिन मुझे को चिंता नहीं है।

इस वीडियो उन्होंने कहा कि मुझे गिरफ्तारी की कोई चिंता नहीं है क्योंकि मैं शिबू सोरेन का बेटा हूं। पूरे दिन की पूछताछ के बाद ईडी ने मुझे गिरफ्तार करने का फैसला किया, जिसका मुझसे कोई संबंध नहीं हैं। उन्होंने वीडियो संदेश में दावा किया कि अभी तक ईडी के पास कोई ठोस सबूत नहीं मिला है। यह सब कुछ जानबूझकर मेरे दिल्ली आवास पर छापेमारी कर मेरी छवि खराब करने की भी कोशिश की जा रही है । उन्होंने कहा कि गरीबों,आदिवासियों पर अत्याचार करने वालों के खिलाफ हम खड़े है। उन्होंने कहा कि इस शोषण के खिलाफ लड़ाई लड़नी होगी।

इसी बीच, आज जमीन घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किए गए झारखंड के पूर्व मुख्यमंंत्री हेमंत सोरेन को रांची के विशेष पीएमएलए कोर्ट में पेश किया जाएगा। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मामले में आगे की पूछताछ के लिए सोरेन की रिमांड की मांग करेगा। ईडी द्वारा हेमंत सोरेन को बुधवार रात सात घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था। इससे पहले ईडी की हिरासत में ही सीएम हेमंत ने राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया था

ईडी के अधिकारियों ने बताया कि हेमंत ने अपनी गिरफ्तारी टालने का भी पूरा प्रयास किया। यहां तक कि उन्होंने ईडी की ओर से दिए गए गिरफ्तारी मेमो पर हस्ताक्षर करने से मना किया। राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद ही उन्होंने मेमो पर दस्तखत किए। गिरफ्तारी के बाद ईडी ने उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया

गिरफ्तारी के लिए सदन के अध्यक्ष की अनुमति जरूरी, इसलिए पहले इस्तीफा

आपराधिक मामले में किसी मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी के लिए विधानसभा अध्यक्ष की अनुमति जरूरी होती है। इसके लिए उन्हें सूचित करना पड़ता है। इस प्रक्रिया से बचने के लिए ही ईडी ने सोरेन को पहले हिरासत में लिया और बाद में राज्यपाल के पास ले गए। जहा इस्तीफा देने के बाद ही उनको गिरफ्तार किया गया हैड के राजनितिक में उथल पुथल देखने को मिल रहा है,आपको बता दे ,हेमंत सोरेन ने झारखंड के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। वही अब ईडी द्वाझारखंड के राजनितिक में उथल पुथल देखने को मिल रहा है,आपको बता दे ,हेमंत सोरेन ने झारखंड के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। वही अब ईडी द्वारा की गिरफ्तारी से पहले हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी से पहले एक वीडियो संदेश सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो में उन्होंने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) मुझे आज गिरफ्तार करेगी, लेकिन मुझे को चिंता नहीं है।

इस वीडियो उन्होंने कहा कि मुझे गिरफ्तारी की कोई चिंता नहीं है क्योंकि मैं शिबू सोरेन का बेटा हूं। पूरे दिन की पूछताछ के बाद ईडी ने मुझे गिरफ्तार करने का फैसला किया, जिसका मुझसे कोई संबंध नहीं हैं। उन्होंने वीडियो संदेश में दावा किया कि अभी तक ईडी के पास कोई ठोस सबूत नहीं मिला है। यह सब कुछ जानबूझकर मेरे दिल्ली आवास पर छापेमारी कर मेरी छवि खराब करने की भी कोशिश की जा रही है । उन्होंने कहा कि गरीबों,आदिवासियों पर अत्याचार करने वालों के खिलाफ हम खड़े है। उन्होंने कहा कि इस शोषण के खिलाफ लड़ाई लड़नी होगी।

इसी बीच, आज जमीन घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किए गए झारखंड के पूर्व मुख्यमंंत्री हेमंत सोरेन को रांची के विशेष पीएमएलए कोर्ट में पेश किया जाएगा। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मामले में आगे की पूछताछ के लिए सोरेन की रिमांड की मांग करेगा। ईडी द्वारा हेमंत सोरेन को बुधवार रात सात घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था। इससे पहले ईडी की हिरासत में ही सीएम हेमंत ने राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया था

ईडी के अधिकारियों ने बताया कि हेमंत ने अपनी गिरफ्तारी टालने का भी पूरा प्रयास किया। यहां तक कि उन्होंने ईडी की ओर से दिए गए गिरफ्तारी मेमो पर हस्ताक्षर करने से मना किया। राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद ही उन्होंने मेमो पर दस्तखत किए। गिरफ्तारी के बाद ईडी ने उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया

गिरफ्तारी के लिए सदन के अध्यक्ष की अनुमति जरूरी, इसलिए पहले इस्तीफा

आपराधिक मामले में किसी मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी के लिए विधानसभा अध्यक्ष की अनुमति जरूरी होती है। इसके लिए उन्हें सूचित करना पड़ता है। इस प्रक्रिया से बचने के लिए ही ईडी ने सोरेन को पहले हिरासत में लिया और बाद में राज्यपाल के पास ले गए। जहा इस्तीफा देने के बाद ही उनको गिरफ्तार किया गया हैझारखंड के राजनितिक में उथल पुथल देखने को मिल रहा है,आपको बता दे ,हेमंत सोरेन ने झारखंड के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। वही अब ईडी द्वारा की गिरफ्तारी से पहले हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी से पहले एक वीडियो संदेश सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो में उन्होंने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) मुझे आज गिरफ्तार करेगी, लेकिन मुझे को चिंता नहीं है।

इस वीडियो उन्होंने कहा कि मुझे गिरफ्तारी की कोई चिंता नहीं है क्योंकि मैं शिबू सोरेन का बेटा हूं। पूरे दिन की पूछताछ के बाद ईडी ने मुझे गिरफ्तार करने का फैसला किया, जिसका मुझसे कोई संबंध नहीं हैं। उन्होंने वीडियो संदेश में दावा किया कि अभी तक ईडी के पास कोई ठोस सबूत नहीं मिला है। यह सब कुछ जानबूझकर मेरे दिल्ली आवास पर छापेमारी कर मेरी छवि खराब करने की भी कोशिश की जा रही है । उन्होंने कहा कि गरीबों,आदिवासियों पर अत्याचार करने वालों के खिलाफ हम खड़े है। उन्होंने कहा कि इस शोषण के खिलाफ लड़ाई लड़नी होगी।

इसी बीच, आज जमीन घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किए गए झारखंड के पूर्व मुख्यमंंत्री हेमंत सोरेन को रांची के विशेष पीएमएलए कोर्ट में पेश किया जाएगा। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मामले में आगे की पूछताछ के लिए सोरेन की रिमांड की मांग करेगा। ईडी द्वारा हेमंत सोरेन को बुधवार रात सात घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था। इससे पहले ईडी की हिरासत में ही सीएम हेमंत ने राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया था

ईडी के अधिकारियों ने बताया कि हेमंत ने अपनी गिरफ्तारी टालने का भी पूरा प्रयास किया। यहां तक कि उन्होंने ईडी की ओर से दिए गए गिरफ्तारी मेमो पर हस्ताक्षर करने से मना किया। राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद ही उन्होंने मेमो पर दस्तखत किए। गिरफ्तारी के बाद ईडी ने उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया

गिरफ्तारी के लिए सदन के अध्यक्ष की अनुमति जरूरी, इसलिए पहले इस्तीफा

आपराधिक मामले में किसी मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी के लिए विधानसभा अध्यक्ष की अनुमति जरूरी होती है। इसके लिए उन्हें सूचित करना पड़ता है। इस प्रक्रिया से बचने के लिए ही ईडी ने सोरेन को पहले हिरासत में लिया और बाद में राज्यपाल के पास ले गए। जहा इस्तीफा देने के बाद ही उनको गिरफ्तार किया गया हैरा की गिरफ्तारी से पहले हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी से पहले एक वीडियो संदेश सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो में उन्होंने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) मुझे आज गिरफ्तार करेगी, लेकिन मुझे को चिंता नहीं है।

इस वीडियो उन्होंने कहा कि मुझे गिरफ्तारी की कोई चिंता नहीं है क्योंकि मैं शिबू सोरेन का बेटा हूं। पूरे दिन की पूछताछ के बाद ईडी ने मुझे गिरफ्तार करने का फैसला किया, जिसका मुझसे कोई संबंध नहीं हैं। उन्होंने वीडियो संदेश में दावा किया कि अभी तक ईडी के पास कोई ठोस सबूत नहीं मिला है। यह सब कुछ जानबूझकर मेरे दिल्ली आवास पर छापेमारी कर मेरी छवि खराब करने की भी कोशिश की जा रही है । उन्होंने कहा कि गरीबों,आदिवासियों पर अत्याचार करने वालों के खिलाफ हम खड़े है। उन्होंने कहा कि इस शोषण के खिलाफ लड़ाई लड़नी होगी।

इसी बीच, आज जमीन घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किए गए झारखंड के पूर्व मुख्यमंंत्री हेमंत सोरेन को रांची के विशेष पीएमएलए कोर्ट में पेश किया जाएगा। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मामले में आगे की पूछताछ के लिए सोरेन की रिमांड की मांग करेगा। ईडी द्वारा हेमंत सोरेन को बुधवार रात सात घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था। इससे पहले ईडी की हिरासत में ही सीएम हेमंत ने राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया था

ईडी के अधिकारियों ने बताया कि हेमंत ने अपनी गिरफ्तारी टालने का भी पूरा प्रयास किया। यहां तक कि उन्होंने ईडी की ओर से दिए गए गिरफ्तारी मेमो पर हस्ताक्षर करने से मना किया। राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद ही उन्होंने मेमो पर दस्तखत किए। गिरफ्तारी के बाद ईडी ने उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया

गिरफ्तारी के लिए सदन के अध्यक्ष की अनुमति जरूरी, इसलिए पहले इस्तीफा

आपराधिक मामले में किसी मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी के लिए विधानसभा अध्यक्ष की अनुमति जरूरी होती है। इसके लिए उन्हें सूचित करना पड़ता है। इस प्रक्रिया से बचने के लिए ही ईडी ने सोरेन को पहले हिरासत में लिया और बाद में राज्यपाल के पास ले गए। जहा इस्तीफा देने के बाद ही उनको गिरफ्तार किया गया है

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे