Monday, June 17, 2024

नफे सिंह हत्याकांड से हिला हरियाणा, नफे सिंह हत्यांकड का खुलासा

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

हरियाणा के बहादुरगढ़ में इंडियन नेशनल लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी की हत्या से सियासी बवाल मचा हुआ है और राज्य की कानून व्यवस्था पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। दरअसल बराही गांव से बहादुरगढ़ जा रहे नफे सिंह राठी के गाड़ी पर दिन दहाड़े बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। हमलावरों ने करीब 50 राउंड फायरिंग की। इस हमले में नफे सिंह राठी के साथ साथ उनके एक सुरक्षाकर्मी की मौत हो गई जबकि 3 निजी सुरक्षागार्डों को भी चोटें आई हैं। अब नफे सिंह पर गोलियां बरसाने वाले हमलावरों का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आ चूका है आइये जानते है विस्तार से इस हमले में किसका हाथ है ?

दरअसल हमला रविवार की शाम सांखोल बहादुरगढ़ के साथ बराही रोड रेलवे फाटक के पास हुआ। जहाँ बताया गया कि नफे सिंह अपने सहयोगियों के साथ कार में सवार होकर बराही गांव से लौट रहे थे वो वहां एक परिवार के सामाजिक समारोह में भाग लेने गए थे। सांखोल के निकट रेलवे फाटक पर अज्ञात हमलावरों ने गाड़ी में बैठे नफे सिंह राठी और उनके सहयोगियों पर गोलीबारी शुरू कर दी।

आपको बता दें नफे सिंह कार में आगे चालक के साथ वाली सीट पर बैठे थे। हमले से उनकी और उनके सहयोगी कार्यकर्ता गांव मांडोठी निवासी जयकिशन दलाल की मौके पर ही मौत हो गई जबकि कार चालक संजय और संजीत निवासी कबलाना गंभीर रूप से घायल हो गए। बता दें कि हमलावर आई-20 कार में सवार होकर आए थे। इस हमले में 50 से ज्यादा गोलियां बरसाई गईं तो वहीं मौके पर गोलियों के 18 खोल मिल चुके हैं। गाड़ी पर भी 15 से ज्यादा गोलियों के निशान हैं। कार चालक संजय के हाथ और पैर में गोली लगी है।

संजीत को भी शरीर के कई अंगों पर गोलियां मारी गई हैं। फ़िलहाल घायलों को शहर के ब्रह्मशक्ति अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस वारदात को लेकर बहादुरगढ़ के लाइनपार थाना में 26 फरवरी 2024 को गाड़ी चालक व नफे राठी के भांजे राकेश उर्फ संजय के बयान पर मामला दर्ज हो गया है यह केस आइपीसी की धारा 147, 148, 149, 307, 302, 120बी और तमाम धरा आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज किया गया है और पूर्व विधायक नरेश कौशिक समेत 7 सात लोगों को आरोपी बनाया गया है।

दरअसल पुलिस ने राकेश उर्फ संजय के बयान पर पूर्व विधायक नरेश कौशिक, पूर्व चेयरमैन और मौजूदा चेयरपर्सन सरोज राठी के पति रमेश राठी और चाचा ससुर कर्मवीर राठी, देवर कमल राठी, पूर्व मंत्री मांगेराम राठी के पुत्र सतीश राठी, पोते गौरव व राहुल व पांच अन्य के खिलाफ किया मामला दर्ज किया है। बता दें सीआईए और एसटीएफ की टीमें इस मामले में काम कर रही हैं। आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

तो वहीं आपको बताते चले नफे सिंह के बेटे ने कहा है कि जब तक उसके पिता के हत्यारों को पुलिस पकड़ नही लेती तबतक वह शव का पोस्टमार्टम नही करने देंगे. उन्होंने कहा, ‘मुझे शक है मेरे पिता की हत्या में BJP के लोकल लीडर्स का हाथ है. पुलिस प्रशासन चुप बैठी है मेरे और मेरे परिवार को सुरक्षा नही मिल रही है. मेरे पिताजी पांच साल से सुरक्षा की मांग कर रहे थे. मेरे पिताजी राष्ट्रीय लीडर थे. सभी राजनीतिक पार्टी को मेरे पिताजी के हत्या से पहले सपोर्ट करना चाहिए था।

आपको बता दें इस हत्याकांड के बाद पूरा विपक्ष सरकार पर हमलावर है सीएम खट्टर ने कहा है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा और सभी की गिरफ्तारी जल्द ही की जाएगी। वहीं अब इनेलो नेता अभय चौटाला ने राज्य सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने निशाना साधते हुए कहा कि सरकार जान का खतरा होने के बावजूद नफे सिंह को सुरक्षा मुहैया कराने में असफल रही।

उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और गृह मंत्री अनिल विज के इस्तीफे की मांग की है और वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती ने इस मामले पर सोशल मीडिया एक्स पर लिखा है कि हरियाणा में प्रदेश के इ.ने. लोकदल के प्रमुखय नफे सिंह राठी की बहादुरगढ़ में दिन दहाड़े गोली मारकर की गई हत्या की घटना अति दुखद, चिंतनीय व कानून व्यवस्था के मामले में सरकारी विफलता का प्रतीक है। सरकार घटना को गंभीरता से ले तथा दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करे। अब आगे ये देखना होगा की क्या सरकार इस मामले को शख्ती बरखते हुए नफे सिंह राठी के परिवार को इंसाफ जल्द ही दिला पाएगी ?

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights