Wednesday, October 5, 2022
spot_imgspot_img
HomeNationalपीएम मोदी कानपुर मेट्रो की सवारी के बाद थोड़ी में देंगे कई...

पीएम मोदी कानपुर मेट्रो की सवारी के बाद थोड़ी में देंगे कई और सौगातें

spot_imgspot_img

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कानपुर दौरे पर हैं। यह पीएम मोदी का 22 दिन में 7वां यूपी दौरा है। चकेरी एयरपोर्ट से आईआईटी के दीक्षांत समारोह में शामिल होने पहुंचे। उन्होंने छात्र-छात्राओं को मेडल दिए। उन्होंने छात्रों को मंत्र दिए। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कानपुर मेट्रो का शुभारंभ किया। उन्होंने सीएम योगी और हरदीप पुरी के साथ आईआईटी से गीता नगर स्टेशन तक मेट्रो से सफर किया। गीता नगर स्टेशन से उतर कर यहां से प्रधानमंत्री रैली स्थल निराला नगर सड़क मार्ग से रवाना हुए। पीएम मोदी रेलवे मैदान में कई परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे और रैली को संबोधित करेंगे। मोदी  दोपहर 3:20 बजे वापस दिल्ली लौटेंगे।  

लाइव अपडेट्स:

आईआईटी मेट्रो स्टेशन पर पहुंचे स्कूली बच्चे जिन्हें पहले दिन प्रधानमंत्री के बाद मेट्रो से सफर करना है।

गीता नगर स्टेशन में रुकी मेट्रो। यहां से प्रधानमंत्री रैली स्थल निराला नगर सड़क मार्ग से रवाना होंगे

आईआईटी मेट्रो के पहले यात्री बने पीएम मोदी के साथ योगी और हरदीप पुरी। 
सभी आईआईटी मेट्रो स्टेशन से गीता नगर मेट्रो स्टेशन तक जाएंगे। 
इससे पहले मोदी ने सीएम के साथ मेट्रो प्रदर्शनी और उसकी खूबियां जानीं।

जो लोग चुनौती से भागते हैं वो उनका शिकार बन जाते हैंः मोदी
आज से शुरू हुई यात्रा में आपको सहूलियत के लिए शॉर्टकट भी बहुत लोग बताएंगे, लेकिन मेरी सलाह यही होगी कि आप कंफर्ट मत चुनना, चुनौती जरूर चुनना। क्योंकि, आप चाहें या न चाहें, जीवन में चुनौतियां आनी ही हैं। जो लोग उनसे भागते हैं वो उनका शिकार बन जाते हैं।

भारत दुनिया का दूसरा स्टार्ट हब बना, तीसरा सबसे बड़ा यूनीकॉर्न देश हैः मोदी   
कौन भारतीय नहीं चाहेगा कि भारत की कंपनियां ग्लोबल बनें, भारत के उत्पाद ग्लोबल बनें।जो आईआईटी को जानता है, यहां के टैलेंट को जानता है, यहां के प्रोफेसर्स की मेहनत को जानता है, वो ये विश्वास करता है ये आईआईटी के नौजवान जरूर करेंगे। आज भारत दुनिया का दूसरा स्टार्ट हब बनकर हब बनकर उभरा। तीसरा सबसे बड़ा यूनीकॉर्न देश बन गया है।

हम आत्मनिर्भर नहीं होंगे, तो हमारा देश अपने लक्ष्य कैसे पूरे करेगा :मोदी

मेरी बातों में आपको अधीरता नजर आ रही होगी लेकिन मैं चाहता हूं कि आप भी इसी तरह आत्मनिर्भर भारत के लिए अधीर बनें। यदि हम आत्मनिर्भर नहीं होंगे, तो हमारा देश अपने लक्ष्य कैसे पूरे करेगा, अपनी Destiny तक कैसे पहुंचेगा। 
जब देश की आजादी को 25 साल हुए, तब तक हमें भी अपने पैरों पर खड़ा होने के लिए बहुत कुछ कर लेना चाहिए था।

अब बिना तकनीक के जीवन अब एक तरह से अधूरा ही होगाः मोदी
आईआईटी के 54वें दीक्षांत समारोह में युवाओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये दौर, ये 21वीं सदी, पूरी तरह प्रौद्योगिकी संचालित है। इस दशक में भी तकनीकी अलग-अलग क्षेत्रों में अपना दबदबा और बढ़ाने वाली है। अब बिना तकनीक के जीवन अब एक तरह से अधूरा ही होगा। ये जीवन और तकनीक की स्पर्धा का युग है और मुझे विश्वास है कि इसमें आप जरूर आगे निकलेंगे।

कानपुर के गौरवशाली इतिहास से रूबरू कराया :मोदी

जब आपने आईआईटी कानपुर में प्रवेश लिया था और अब जब आप यहां से निकल रहे हैं, तब और अब में आप अपने में बहुत बड़ा परिवर्तन महसूस कर रहे होंगे। कानपुर के इतिहास पर नजर डालते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सत्ती चौरा घाट से लेकर मदारी पासी तक, नाना साहब से लेकर बटुकेश्वर दत्त तक। जब हम इस शहर की सैर करते हैं तो ऐसा लगता है जैसे हम स्वतंत्रता संग्राम के बलिदानों के गौरव की, उस गौरवशाली अतीत की सैर कर रहे हैं।

युवाओं से कहा, वैसे ही ये आपके जीवन का भी अमृतकाल है : मोदी
1930 के उस दौर में जो 20-25 साल के नौजवान थे, 1947 तक उनकी यात्रा और 1947 में आजादी की सिद्धि, उनके जीवन का गोल्डन फेस थी। आज आप भी एक तरह से उस जैसे ही गोल्डन एरा में कदम रख रहे हैं। जैसे ये राष्ट्र के जीवन का अमृतकाल है, वैसे ही ये आपके जीवन का भी अमृतकाल है।

पीएम ने कहा कि कानपुर भारत के उन कुछ चुनिंदा शहरों में से है, जो इतना diverse है। सत्ती चौरा घाट से लेकर मदारी पासी तक, नाना साहब से लेकर बटुकेश्वर दत्त तक, जब हम इस शहर की सैर करते हैं तो ऐसा लगता है जैसे हम स्वतंत्रता संग्राम के बलिदानों के गौरव की, उस गौरवशाली अतीत की सैर कर रहे हैं:

पीएम ने कहा कि आपने जब IIT कानपुर में प्रवेश लिया था और अब जब आप यहां से निकल रहे हैं, तब और अब में, आप अपने में बहुत बड़ा परिवर्तन महसूस कर रहे होंगे। यहां आने से पहले एक Fear of Unknown होगा, एक Query of Unknown होगी।

पीएम मोदी ने आईआईटी कानपुर के छात्रों से कहा कि अब Fear of Unknown नहीं है, अब पूरी दुनिया को Explore करने का हौसला है। अब Query of Unknown नहीं है, अब Quest for the best है, पूरी दुनिया पर छा जाने का सपना है।

पीएम मोदी में अपने में युवा साथियों को शुभकामनाएं दी। पीएम मोदी ने कहा कि कानपुर के लिए दोहरी खुशी का दिन।

आईआईटी के 54वें दीक्षांत समारोह को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबोधित करते हुए कहा कि गुणवत्ता परख तकनीकी शिक्षा प्रदान करने में हमारे तकनीकी संस्थाओं का अहम योगदान है। इस सदी की सबसे बड़ी महामारी में इन संस्थाओं ने बड़ी भूमिका अदा की है। 


इसी की बदौलत यूपी काफी तेजी से आगे बढ़ रहा है। आईआईटी कानपुर, आईआईटी बीएचयू, आईआईएम लखनऊ ने प्रदेश सरकार के साथ मिलकर काफी सराहनीय काम किए हैं। डिफेंस कॉरीडोर हो या सूचना प्रौद्योगिकी, गैर सूचना प्रौद्योगिकी, कृषि प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में इन संस्थाओं ने प्रदेश आगे बढ़ाया है।

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments