Sunday, August 14, 2022
spot_imgspot_img
HomeNationalमहिला अफसरों को स्थायी कमिशन देने के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट...

महिला अफसरों को स्थायी कमिशन देने के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई

spot_imgspot_img

भारतीय सेना के स्थायी कमिशन देने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले को नहीं किए जाने के संबंध में महिला अधिकारी की याचिका पर आज सुनवाई होनी है। सुप्रीम कोर्ट गुरुवार को भारतीय सेना में महिला अधिकारियों की परमानेंट कमिशन की याचिका पर सुनवाई करेगा, महिला आधिकारी ने आदेश को लागू नहीं करने को लेकर शीर्ष अदालत से गुहार लगाई है।

याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का पालन न करने के लिए कथित रूप से उन लोगों के खिलाफ कार्यवाही की जाए जिन्होंने फैसले की अवमानना की है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने पहले आदेश दिया था कि भारतीये सेना में सभी महिला अधिकारियों के लिए परमानेंट कमिशन लागू होगा, दिल्ली उच्च न्यायलय के बाद भी यह फैसला दिया गया था कि महिला अधिकारियों को स्थायी कमिशन दिया जाना चाहिए।

पिछले साल, SC ने केंद्र सरकार को आदेश दिया था कि वह अपने पुरुष समकक्षों के साथ सेना की गैर-लड़ाकू सहायता इकाइयों में स्थायी आयोग (PC) को महिलाओं को भी अनुदान दे।

न्यायमूर्ति डॉ डी वाई चंद्रहुड की अध्यक्षता वाली शीर्ष अदालत की एक पीठ और जिसमें न्यायमूर्ति एम आर शाह भी शामिल थे, ने पहले मामले की अंतिम सुनवाई 24 फरवरी के लिए तय की थी।

ऐसी ही एक याचिका एक महिला अधिकारी ने अपने वकील चित्रांगदा रस्तवारा और एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड (एओआर) अर्चना पाठक दवे के माध्यम से दायर की थी, सुप्रीम कोर्ट ने अपने पहले के आदेश को लागू करने के लिए तत्काल निर्देश देने की मांग की थी।

हालांकि, सेना ने दावा किया कि 615 महिला अधिकारियों में से 422 ऐसे हैं जो सेना में पीसी के लिए योग्य हैं। लेकिन वास्तव में, 422 में से केवल 277 को पीसी दिया गया है और शेष संख्या अर्थात् 145 ऐसी अधिकारी हैं, जो या तो गैर-ऑपिटे हैं या जिनका परिणाम चिकित्सा और प्रशासनिक कारणों से रोक दिया गया है, 193 अधिकारियों को पीसी से वंचित कर दिया गया है।

उनकी याचिका के अनुसार, 422 का यह आंकड़ा केवल अच्छे प्रकाशिकी के लिए एक आंकड़ा है और वास्तव में वास्तविक संख्या को नहीं बताता है। 

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments