Friday, May 27, 2022
spot_imgspot_img
HomeStateBIHARBihar MLC Election Result: ज्यादातर करोड़पति और अरबपति उम्मीदवार जीते

Bihar MLC Election Result: ज्यादातर करोड़पति और अरबपति उम्मीदवार जीते

spot_imgspot_img

बिहार विधान परिषद चुनाव के परिणाम घोषित हो चुके हैं। जीते हुए उम्मीदवारों को जहां राजनीतिक पार्टियों का साथ मिला वहीं उनपर मां लक्ष्मी की कृपा भी है। करोड़पति और अरबपतियों को जीत मिली है।

स्थानीय निकाय कोटे से बिहार विधान परिषद की 24 सीटों पर जीत हासिल करने वाले प्रत्याशियों को राजनीतिक दलों का साथ तो मिला ही, उनपर देवी लक्ष्मी की भी भरपूर कृपा रही है। निर्दलीय तौर पर जीत का सेहरा बांधने वाले उम्मीदवारों पर भी यह कृपा भरपूर रही है। सभी 24 में से कोई भी करोड़पति से कम नहीं है। वहीं, कई अरबपति भी हैं। अपनी संपत्ति का खुलासा इन्होंने अपने नामांकन के समय पेश किए गए शपथ पत्र में किया है। 

11 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं राधाचरण साह 

भोजपुर सह बक्सर विधान परिषद सीट से लगातार दूसरी बार चुनाव जीते 65 वर्षीय राधाचरण साह उर्फ सेठ जी करीब 11 करोड़ की परिसंपत्तियों के मालिक हैं। आरा में होटल, मकान के अलावा पटना में मकान और कौशांबी में फ्लैट होने के साथ-साथ साह बैंकों के सात करोड़ रुपये के कर्जदार भी हैं। नामांकन पत्र दाखिल करने के दौरान दिये गये शपथ पत्र में अपनी परिसंपत्तियों का उल्लेख किया है। नगदी के मामले में इनकी धर्मपत्नी शारदा देवी इनसे धनी हैं। 

रीना यादव को नालंदा से लेकर नोएडा तक जमीन  

नामांकन के समय दी गयी संपत्ति विवरणी के अनुसार एमएलसी रीना देवी व इनके पति राजेश कुमार सिंह उर्फ राजू यादव करोड़ों के मालिक हैं। नालंदा से लेकर पटना व नोएडा में भी जमीन हैं। इनकी कुल कीमत करोड़ों में है। थरथरी में जमीन है। इनके पति राजू यादव की इंदौत (नालंदा) में जमीन है। पटना के फुलवारी शरीफ में भी जमीन है। नोएडा में 1,565 वर्ग फीट का निर्माणाधीन फ्लैट है। 

भूषण राय दंपत्ति करोड़पति, कर्जदार भी 

वैशाली से जीते राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के भूषण राय और इनकी पत्नी करोड़पति हैं। इन पर कर्ज भी करोड़ों में है। नामांकन में दिए गए शपथ पत्र के अनुसार वित्त वर्ष 2016 में इनकी आय 26 लाख एक हजार 742 रुपए थी, 2017-18 में 40 लाख 79 हजार 707 रुपए और 2018-19 में एक करोड़ 52 लाख 31 हजार 505 रुपये और वित्त वर्ष 2020-21 में एक करोड़ 58 लाख 14 हजार 136 रुपए हो गई। भूषण राय के पास चल संपत्ति की कीमत तीन करोड़ 61 लाख 81 हजार और पत्नी के पास की चल संपत्ति की कीमत दो करोड़ 54 लाख 19 हजार 857 रुपये है। इसी तरह भूषण राय के पास अचल संपत्ति की कीमत 16 करोड़ 36 लाख 46 हजार 940 रुपए और इनकी पत्नी रेणू राय के पास 17 करोड़ 75 लाख 72 हजार की अचल संपत्ति है।  

113 एकड़ खेती योग्य भूमि है अशोक यादव के पास

पूर्व राजद नेता स्व. कृष्णा प्रसाद के पुत्र अशोक यादव विरासत में मिली करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं। मुख्य तौर पर कृषि इनका पेशा है। अशोक को विरासत में करीब 113 एकड़ खेती योग्य भूमि मिली है, जबकि 64.5 डिसमिल इनकी ख़रीदी जमीन है। वर्तमान में इसकी कीमत करीब 03 करोड़ रुपये है। अशोक 06 हाइवा, 01 स्कॉर्पियो और 01 बाइक के भी मालिक हैं। राजधानी पटना में भी अशोक कुमार का एक कट्ठा में आवासीय मकान बना है, जो इनकी स्वअर्जित सम्पत्ति है। 

निर्दलीय सच्चिदानंद 890 करोड़ अचल संपत्ति के मालिक

सारण से निर्दलीय जीते सच्चिदानंद राय द्वारा नामांकन के दौरान दाखिल हल्फानामे की माने तो उनके पास करीब 890 करोड़ की अचल संपत्ति है और 208 करोड़ का भूमि बैंक प्रोजेक्ट आने वाला है। करीब 8 लाख 65 हजार 620 स्वयं व पत्नी 10 लाख 65 हजार 710 रुपये आयकर दाता है। वहीं प्रपत्र के पार्ट दो में दिये गए विवरण की माने तो तीन करोड़ 40 लाख 42 हजार 355 स्वयं व पत्नी के पास तीन करोड़ 57 लाख 42 हजार 485 रुपये की अचल संपत्ति है। करीब 1.33 करोड़ लोन है। 

करीब डेढ़ सौ करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं राजीव कुमार

गोपालगंज से विजयी उम्मीदवार राजीव कुमार उर्फ गप्पू बाबू करीब डेढ़ सौ करोड़ रुपए की संपत्ति के मालिक हैं। शपथपत्र में उन्होंने अपनी चल-अचल संपत्ति की जानकारी दी है। जिसके अनुसार राजीव कुमार के पास 96 करोड़ 39 हजार 350 रुपए की स्वअर्जित आस्तियां हैं और इनकी पत्नी सुमुद सिंह के पास 35 करोड़ 64 लाख 65 हजार 590 रुपए की स्वअर्जित संपत्तियां हैं। जबकि, राजीव कुमार के पास 19 करोड़ 76 लाख 94 हजार 417 रुपए और पत्नी के पास आठ करोड़ 44 लाख 37 हजार 650 रुपए की चल संपत्ति है। इनके पास 55 लाख रुपए का सोना और पत्नी के पास 62 लाख रुपए का सोना है। 

कृषि और व्यवसाय है दिलीप सिंह की आय का जरिया

औरंगाबाद के भाजपा एमएलसी दिलीप कुमार सिंह की आय का जरिया खेती के साथ व्यवसाय भी है। वे करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं। उनकी पत्नी सदर प्रखंड प्रमुख ज्ञानती देवी के नाम से भी विभिन्न बैंक में रुपए जमा हैं। दिलीप सिंह के पास नगद दो लाख 35 हजार 250 व पत्नी के पास 1.65 लाख हैं। इसके अलावा विभिन्न बचत खातों में एक करोड़ 85 लाख 92 हजार 177 रुपए जमा है। दिलीप सिंह के पास सौ ग्राम सोना है जबकि उनकी पत्नी के पास दो सौ ग्राम सोना और एक किलो चांदी है। मालवीय नगर वर्धमान में पत्नी के नाम से अचल संपत्ति है। इसका वर्तमान मूल्य 25 लाख 97 हजार रुपए है। एमएलसी की पत्नी के नाम से कंस्ट्रक्शन कंपनी भी है। इंटर तक पढ़ाई करने वाले दिलीप सिंह औरंगाबाद जिले के फेसर थाना क्षेत्र के ममका गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने वित्तीय वर्ष 2020-21 में अपनी कुल आय एक करोड़ तीन लाख 20 हजार 710 रुपए बताई है। पत्नी की आय वित्तीय वर्ष 2019-20 में 32 लाख 75 हजार 800 रुपए बताई गई है। इसके अलावा उन पर कुछ देनदारी भी है। 

विनोद कुमार जायसवाल के खातो में 46.57 लाख रुपए

सीवान से जीते राजद के विनोद कुमार जायसवाल के पास अलग-अलग बैंक खातों में 46 लाख 57 हजार रुपए हैं। पत्नी किरण देवी के बैंक खाते में 22 लाख रुपए से ज्यादा जमा है। ज्वेलरी की बात करें तो विनोद जायसवाल के पास 240 ग्राम आभूषण है, जिसका मार्केट वैल्यू 11 लाख 76 हजार रुपए है। वहीं, पत्नी किरण के पास 470 ग्राम ज्वेलरी है, जिसकी कीमत 23 लाख रुपए से अधिक है। विनोद जायसवाल के पास कृषि योग्य जमीन धनबाद, जयपुर और कोईलवर में है। दिल्ली, नोएडा और पटना में कॉमर्शियल बिल्डिंग है। पत्नी किरण देवी के नाम पटना में रेजिडेंशियल बिल्डिंग है। 

करोड़ों के मालिक हैं नवनिर्वाचित एमएलसी कुमार नागेंद्र

जहानाबाद-अरवल सीट से जीते राजद के कुमार नागेंद्र उर्फ रिंकू यादव करोड़ों की संपति के मालिक हैं। नामांकन पत्र के साथ दाखिल शपथ पत्र में उन्होंने करोड़ों रुपए का चल एवं अचल संपत्ति की घोषणा की है। बीएस कॉलेज दानापुर पटना से आईएससी की पढ़ाई की है। इनके पास बैंक बैलेंस 11 हजार रुपया है। जबकि पत्नी के पास एक 72 हजार रुपये बैंक बैलेंस है। रिंकू के पास 10 लाख 78 हजार रुपये की ज्वेलरी है जबकि पत्नी के पास 15 लाख 31 हजार की। वहीं कृषि योग्य भूमि एक करोड़ 98 लाख की है। गया, बोधगया लखनऊ, नोएडा, रांची में चल अचल कुल संपत्ति 13 करोड़ 54 लाख की है। वहीं उन्होंने एक करोड़ 48 लाख रुपये विभिन्न संस्थानों को इन्वेस्ट किया है। 

कार्तिक कुमार से अमीर हैं उनकी पत्नी

पटना से जीते राजद प्रत्याशी कार्तिक कुमार से अमीर उनकी पत्नी है। उनके और पत्नी के पास नगद दो-दो लाख रुपये हैं। कृषि, गैर कृषि भूमि के अलावा आवासीय और व्यावसायिक फ्लैट के मालिक हैं। 2 करोड़ 83 लाख 50 हजार मूल्य के फ्लैट खुद के नाम, जबकि 11 करोड़ 8 लाख 50 हजार रुपये मूल्य के फ्लैट पत्नी रंजना कुमारी के नाम है। कार्तिक कुमार के पास अपना कोई वाहन नहीं है। कार्तिक के पास 250 ग्राम सोने के जेवरात तो पत्नी के पास 750 ग्राम जेवरात हैं। इनके पास करीब एक लाख रुपये मूल्य के रिवाल्वर और राइफल है। कार्तिक कुमार पर 1 करोड़ 41 लाख और पत्नी पर 29 लाख 33 हजार 748 रुपये की देनदारी है। इनके खिलाफ कोतवाली और मोकामा में कई मामले दर्ज हैं। 

कांग्रेस के राजीव कुमार की पांच साल में घटी आय 

बेगूसराय-खगड़िया निर्वाचन क्षेत्र से राजीव कुमार लाखों रुपये के मालिक हैं, लेकिन पांच साल में उनकी संपत्ति बढ़ने के बजाए घटी है। नामांकन के दौरान शपथ पत्र में दर्शाये गये विवरण के मुताबिक 2017-18 में उनकी 15 लाख 14 हजार 171 रुपए थी जो वित्तीय 2021-22 में घटकर 11 लाख 50 हजार 645 रुपए हो गई। वित्तीय वर्ष 2018-19 में उनकी कुल आय 17 लाख 30 हजार 112 रुपए, 2019-20 में 17 लाख 36 हजार 334 रुपए, 2020-21 में 14 लाख 44 हजार 400 रुपए थी। इसके अलावा लाखों रुपए मूल्य की अचल संपत्ति के भी वह मालिक हैं।

अरबों की संपत्ति के स्वामी हैं डॉ. दिलीप

पूर्णिया से जीते डॉ. दिलीप कुमार जायसवाल अरबों की संपत्ति के स्वामी हैं। किशनगंज, सिलीगुड़ी से लेकर दिल्ली तक उनके पास जमीन और प्लॉट हैं। बैंक बैलेंस से लेकर स्वर्ण आभूषण हैं। वर्ष 2020-21 में उनकी कुल आय 1 करोड़ 20 लाख 91 हजार 240 रुपये थी। 2016-17 से उनकी वार्षिक आय में लगातार वृद्धि हुई है। आयकर विवरणी में उन्होंने पांच साल में कुल आय के बारे में जानकारी दी है। उनकी पत्नी की वर्ष 2020-21 की आय 1 लाख 98 हजार 800 रुपये है। उनके पास बैंक में 15 लाख से अधिक जमा हैं तो पत्नी के पास 2 लाख 89 हजार से अधिक रकम जमा है। बचत योजना में 35 लाख जबकि प्तनी के 15 लाख निवेश हैं। फार्चुनर के मालिक हैं। पश्चिम बालू चक्का, किशनगंज, महरौली नई दिल्ली में अरबों की कृषि योग्य भूमि हैं, जबकि सिलीगुड़ी व किशनगंज में गैर कृषि योग्य भूमि हैं। सिलीगुड़ी व द्वारका में आवासीय भवन हैं।

मुंगेर से जीते अजय कुमार सिंह करोड़ों के मालिक

मुंगेर-जमुई-लखीसराय और शेखपुरा निकाय चुनाव के विधान परिषद सीट से नवनिर्वाचित राजद प्रत्याशी अजय कुमार सिंह के पास करोड़ों की संपत्ति है। वे स्वर्णाभूषण के व्यवसाय से जुड़े हैं। कई जिलों में उनकी ज्वेलरी शोरूम है। अजय कुमार सिंह ने नामांकन के दौरान जो शपथ पत्र दायर किया, उसके अनुसार वे 5 करोड़ 58 लाख के मालिक हैं। जबकि उनकी पत्नी विनीता सिंह 1 करोड़ 72 लाख की मालकिन हैं। इतना ही नहीं उनके पुत्र सूर्या सिंह 19 लाख 82 हजार रुपया के मालिक हैं। अजय कुमार सिंह के पास 2 लाख 90 हजार, पत्नी के पास 1 लाख 24 हजार और बेटा के पास 2 लाख 82 हजार कैश हैं। मैट्रिक पास अजय कुमार सिंह लग्जरी कार, पिस्टल व रिवाल्वर रखने के भी शौकीन हैं। उनके खिलाफ झारखंड के रांची जिले के थानों में मुकदमा दर्ज है।

भागपलुर से जीते विजय कुमार सिंह हैं करोड़पति

भागलपुर सह बांका स्थानीय प्राधिकारी चुनाव में नवनिर्वाचित भाजपा-जदयू गठबंधन के प्रत्याशी विजय कुमार सिंह करोड़पति हैं और उनके विरुद्ध तीन फौजदारी मामले दर्ज हैं। श्री सिंह, उनकी पत्नी और बच्चों के पास 12 बैंक खातों में 26 लाख रुपये से अधिक जमा हैं। एक अम्बेसडर कार है। जिसकी कीमत करीब 75 हजार रुपये है। प्रत्याशी, पत्नी और बच्चों के पास 50 लाख 50 हजार रुपये के जेवर है। 40.24 करोड़ रुपये कीमत की अचल संपत्ति है। इसमें खेतिहर जमीन के अलावा पटना, मुंगेर, देवघर में जमीन और मकान भी शामिल है। 50 लाख रुपये का हाउसिंग लोन है। प्रत्याशी, उनकी पत्नी और बच्चों के नाम नौ बीमा पॉलिसी है। प्रत्याशी की शैक्षणिक योग्यता बीटेक है। शपथ पत्र के अनुसार एनडीए प्रत्याशी के विरुद्ध तीन मामले कोर्ट में लंबित हैं। मामला आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन से जुड़ा हुआ है।

सहरसा से जीते अजय कुमार सिंह के सात बैंकों में खाते

सहरसा से जीते अजय कुमार सिंह के सात बैंकों में खाता हैं। जिसमें 17 लाख 8 हजार रुपये जमा है। उनके पास नकदी 2 लाख 80 हजार रुपये है। उनकी पत्नी के नाम से चार बैंक खाता हैं जिनमें 56 हजार 100 रुपये जमा हैं। उनके पास नकदी एक लाख 76 हजार रुपये है। उनके आश्रित के नाम से भी तीन बैंक खाते हैं। उन्होंने शेयर बाजार में भी पैसा लगा रखा है। अभय सिंह के नाम से 10 जीवन बीमा पॉलिसी और उनकी पत्नी के नाम से भी 3 पॉलिसी है। इनके पास एक दोपहिया और चारपहिया समेत कुल 9 वाहन हैं। एक जेसीबी भी है। पत्नी के नाम से दो कार हैं। पत्नी के पास साढ़े पांच लाख रुपये के जेवरात हैं। एक करोड़ रुपये से अधिक कीमत की जमीन के मालिक भी हैं। नवनिर्वाचित एमएलसी के पास पटना, हावड़ा और सहरसा में चार आवासीय भवन हैं। इन पर विभिन्न बैंकों का करीब 60 लाख रुपये कर्ज भी है। नवनिर्वाचित प्रत्याशी एलएलबी और पीएचडी हैं।

करोड़ों की संपत्ति है अशोक अग्रवाल के नाम

एमएलसी अशोक अग्रवाल के पास पूर्णिया में के मरंगा में 12 डिसिमल, किशनगंज में 38 डिसमिल, कटिहार के महादेवपुर में 39, हथियारा रमना में 58, डेहरिया में 21.20, मिरचाईबाड़ी में 180, दलन में 30.95, 4.53, मिरचाईबाड़ी में 47, मिरचाईबाड़ी में 20.68 डिसमिल जमीन है। इसके अलावा मिरचाईबाड़ी में 2 डिसमिल, डेहरिया में 30 डिसमिल, डगरा में 6 डिसमिल जमीन है। अचल संपत्ति के तहत किशनगंज में 22.50, डेहरिया में 47.10, दलन में 189, मिरचाईबाड़ी में 9, रामपुर में 400, दलन में 3.50, मिरचाईबाड़ी में 63.79, दलन में 176.80 दूसरे खेसरा में 173 डिसमिल जमीन है। अशोक अग्रवाल के पास 3 करोड़ 65 लाख, 67 हजार 189 रुपये तथा पत्नी के पास 6 करोड़  35 लाख 7 हजार 492 रुपये है।

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments