Monday, June 17, 2024

एक ऐसी Notebook जिसे छूने से हो सकती है मौत! जाने आखिर कौन थी Marie Curie

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

Notebook का तो आप सब ने कभी न कभी अपने जीवन में जरूर इस्तेमाल किया होगा। लेकिन आज हम आपको दुनिया में मौजूद एक ऐसी Notebook के बारे में बताने जा रहे है, जो सात तालों में बंद करके रखी गयी है, और किसी को भी इस Notebook को पकड़ने तो दूर, छूने तक की भी इजाज़त नहीं है. आईए चलिए अब जानते है इस Notebook के बारे में-

कई तरह की दुनिया में विचित्र चीजें होती हैैं, जिनको जानने के बाद लोग अपनी उंगलियां दांतों से चबा जाते हैं. आपने बहुत बार ये सुना होगा की दुनिया में बहुत सी ऐसी चीज़े होती हैं, जिन्हे मात्र छूने भर से ही उनकी मौत हो जाती है. दरअसल, जिस चीज़ की बात और राज़ आज हम आपको बताने जा रहे हैं वो एक ऐसी Notebook है जिसे मात्र छूने से ही इंसान मौत के घाट उतर सकता है, जिस वजह से इसे अभी तक विशेष और खास तरीके के एक बॉक्स के अंदर बंद करकेे रखा हुआ है.

कौन है इस खतरनाक Notebook का मालिक?

आप सबके मन में ये सवाल जरूर उठ रहा होगा की आखिर इतनी खतरनाक Notebook है किसकी? जिसे बस छूने भर से ही इंसान की मौत हो जाती है. तो आपको बतादें की ये Notebook Marie Curie की है, जो कि एक मशहूर वैज्ञानिक है. 2 नए रेेडियोएक्टिव पदार्थों रेडियम (Radium) और पोलोनियम (Polonium) की खोज सन 1898 में Marie Curie और उनके पति पियरे क्यूरी ने करी थी. जिसकी पुरे विश्वभर में वैज्ञानिकों ने खूब सरहाना की थी. भौतिक विज्ञान मेंं क्यूरी दंपत्ति को इसके लिए नोबेल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था. और इसमें खास बात ये है की इस पुरुस्कार को पाने वाली पहली वैज्ञानिक थीं मैरी।

पहली महिला वैज्ञानिक जिसने पाया नोबेेल

बतादें की Marie Curie के पति पियरे की मौत पहले ही हो गई थी, इसके बावजूद भी अपना काम Marie Curie ने जारी रखा. उसके बाद रेडियम के शुद्धीकरण के लिए साल 1911 में उन्हें केमिस्ट्री का नोबेल पुरस्कार दिया गया. और इससे मैरी क्यूरी बनी 2 नोबेल पाने वाली पहली शख्स और महिला। रेडियोएक्टिव के बारे में उस वक्त आम लोगों को अधिक जानकारी नहीं थी. इसके साथ ही रेडिएशन कितना खतरनाक होता है, ये भी लोगों को नहीं पता था. अपनी पॉकेट में अक्सर अपनी लैब Marie Curie रेडियोएक्टिव मैटेरियल्स लेकर घूमती थीं.

लीड लाइन ताबूत में बंद करना पड़ा Marie Curie का शरीर:

ये बात जानकर आपको हैरानी होगी कि 1934 में जब Marie Curie का निधन हुआ था तो काफी ज्यादा रेडिएशन काफी ज्यादा मात्रा में उनके शरीर में मौजूद था की लीड लाइन ताबूत में उनके शरीर को बंद करना पड़ा था. और इतना ही नहीं, इसके साथ ही जो-जो वस्तुएं Marie Curie के द्वारा इस्तेमाल होती थी, या Marie Curie जिन-जिन वस्तुओं को ज्यादा इस्तेमाल करती थी जिनमे शामिल थे – पेेपर, पेन और दवात जैैसी तमाम चीजें जो रेडियोएक्टिव थी और अभी भी हैं, उन्हें आज भी एक सुरक्षित जगह में सुरक्षित तरीके से रखा गया है. और उनमें से एक है ये Notebook. जी हाँ, ये वही Notebook है जिसमे सबसे ज्यादा रेडिएशन पाया गया हैै.

आखिर कहाँ रखी है ये Notebook?

आपको हमने इतना तो बता दिया की ये Notebook आखिर क्या है, कौन इसका मालिक है, और इसे क्यों सबसे दूर रखा गया है? लेकिन आप सब ये जरूर सोच रहे होंगे की आखिर ये Notebook रखी कहाँ है, इस Notebook को आखिर कहाँ रखा गया है? तो आपको बतादें की इस Notebook को नेशनल लाइब्रेरी जो की फ्रांस में मौजूद है, वहां इसे काफी ज्यादा सुरक्षित तरीके से रखा गया है, ताकि कोई भी इसके पास न आ पाए, और इस Notebook से किसी को भी किसी भी तरह का कोई खतरा न हो.

 

 

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights