Thursday, July 25, 2024

मानसून के कारण कार डूबने पर इंश्योरेंस क्लेम: जानिए नियम और शर्तें

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

प्रीत

Car Insurance: मानसून(Monsoon) के साथ ही देश के कई इलाकों में जमकर बारिश होनी शुरू हो गई है.बारिश में कई इलाके पानी में डूब गए है.पहाड़ी इलाकों में भी कई बार ऐसा देखा गया है की बरसाती नाला आने के कारण गाड़ियां डूब जाती हैं. कई बार अंडरग्राउंड/बेसमेंट पार्किंग तक में पानी घुसने से गाड़ियां डूब जाती हैं ऐसे में गाड़ी मालिकों को बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. वहीं कई बार रिपेयरिंग में लाखों का बिल आने से सवाल उठता है कि क्या Insurance बाढ़ अथवा बारिश से होने वाले नुकसान को कवर कर सकता है.

जब कार के अंदर पानी घुसता है तो कई गंभीर नुकसान होते हैं. सबसे पहले अगर पानी इंजन के अंदर चला जाता है. तो इससे इंजन खराब हो सकता है जो महंगा मरम्मत का कारण बनता है. इलेक्ट्रॉनिक पैनल्स और सिस्टम भी प्रभावित हो सकते हैं. जिससे कार की सभी इलेक्ट्रिकल फंक्शनलिटी पर असर पड़ता है.इसके अलावा, कार का इंटीरियर, जैसे सीट्स, डैशबोर्ड, और एसी वेंट भी डैमेज हो सकते हैं, जिससे गंध और फंगल ग्रोथ की समस्या उत्पन्न हो सकती है। इन नुकसानों से बचने के लिए तुरंत कार की जांच और मरम्मत कराना बहुत जरूरी हो जाता है.

WhatsApp Image 2024 07 01 at 7.00.24 PM 1

Insurance लेते समय ध्यान में रखें ये बातें.

मानसून और बाढ़ के दौरान कार डूबने पर इंश्योरेंस क्लेम मिलने की संभावना है लेकिन यह आपके इंश्योरेंस पॉलिसी के प्रकार और शर्तों पर निर्भर करता है. यदि आपके पास व्यापक (कॉम्प्रिहेंसिव) बीमा है, तो आप प्राकृतिक आपदा के कारण कार डूबने पर क्लेम कर सकते हैं. इसके लिए आपको अपने इंश्योरर को तुरंत सूचित करना होगा और बाढ़ से नुकसान की स्थिति का सबूत प्रस्तुत करना होगा। अपने पॉलिसी दस्तावेजों की शर्तों को ध्यान से पढ़ें और अपने बीमा कंपनी से संपर्क करें.

Insurance के प्रकार और कवरेज

1. कॉम्प्रिहेंसिव इंश्योरेंस पॉलिसी

यह पॉलिसी बाढ़, आग, चोरी, और अन्य प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान को कवर करती है. यदि आपके पास कॉम्प्रिहेंसिव इंश्योरेंस पॉलिसी है. तो आप बाढ़ या पानी से हुए नुकसान का क्लेम कर सकते हैं. यह पॉलिसी इंजन की खराबी, इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम के नुकसान, और इंटीरियर्स के डैमेज को भी कवर करती है. जो प्राकृतिक आपदाओं के कारण होते हैं.

2. स्टैंडर्ड कॉम्प्रिहेंसिव पॉलिसी

यह पॉलिसी बाढ़ से होने वाले नुकसान को कवर करती है, लेकिन इसमें पानी के कारण इंजन की खराबी को लेकर कोई विशेष कवरेज नहीं हो सकता।

3.इंश्योरेंस लेने के समय ध्यान देने योग्य बातें

स्थानीय मौसम स्थितियों का ध्यान रखें। यदि आप ऐसे शहर में रहते हैं जहाँ बाढ़ जैसी स्थिति आम है. तो आपको कॉम्प्रिहेंसिव इंश्योरेंस पॉलिसी लेनी चाहिए यह बाढ़ और पानी से होने वाले नुकसान को कवर करती है.

स्टैंडर्ड पॉलिसी के अलावा, जीरो डेप्रिशिएशन और इंजन प्रोटेक्शन जैसे ऐड-ऑन कवर भी लें. जीरो डेप्रिशिएशन कवर आपको नुकसान की पूरी भरपाई देता है जबकि इंजन प्रोटेक्शन कवर इंजन के पानी से प्रभावित होने पर सुरक्षा प्रदान करता है.

पॉलिसी की शर्तें और कवरेज: पॉलिसी खरीदते समय, पॉलिसी की शर्तों और कवरेज का ध्यानपूर्वक अध्ययन करें। सुनिश्चित करें कि बाढ़ और पानी से संबंधित सभी संभावित नुकसानों के लिए कवरेज उपलब्ध है।

4.क्लेम प्रक्रिया

बाढ़ के कारण नुकसान होने पर, अपनी इंश्योरेंस कंपनी को तुरंत सूचित करें और आवश्यक दस्तावेज प्रस्तुत करें. इंश्योरेंस कंपनी के प्रतिनिधि द्वारा नुकसान का आकलन कराया जाएगा. इस प्रक्रिया में फोटोग्राफ्स और अन्य सबूत प्रदान करने की आवश्यकता हो सकती है. सभी दस्तावेज और सबूत सही पाए जाने पर इंश्योरेंस कंपनी क्लेम को स्वीकृत करेगी और आपको मुआवजा प्रदान करेगी.

इन सभी बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए आप अपने कार इंश्योरेंस को बेहतर तरीके से समझ सकते हैं और आपात स्थिति में उचित क्लेम प्रक्रिया को सुनिश्चित कर सकते हैं।

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights