Wednesday, May 29, 2024

Delhi: पिता ने Property के लिए ली अपने बेटे की जान

- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

आतिफा शेख

Delhi: कहते हैं पिता बेटे की सफलता की सीढ़ी होता है पिता उम्मीदों का वो छत है जिसके नीचे बैठकर बेटा बड़े से बड़ा सपना देख पाता है पिता पुत्र का रिश्ता प्यार का वो रिश्ता होता है जिसमे दिखावा नहीं होता है इसमें तकरार भी होता है पर प्यार से ज्यादा नहीं पर इस रिश्ते को शर्मसार करने वाली घटना दिल्ली से आ रही है।

एक पिता अपने ही बेटे की जान का दुश्मन बन बैठा और उसे मौत के घाट उतार दिया। एक बाप बेटे का रिश्ता कितना पवित्र होता है लेकिन इस बाप ने अपने बेटा को सिर्फ संपत्ति (Property) के लिए जान से मार दिया।

दिल्ली पुलिस (Delhi police) ने दक्षिणी दिल्ली के तिगरी इलाके में हुए एक हिंसक हमले और जिम ट्रेनर की हत्या के एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल, 18 साल के आरोपी को मृतक के पिता ने ही काम पर रखा था। बाद में वो जिम ट्रेनर का मर्डर करके फरार हो गया था। तभी से पुलिस उसकी तलाश कर रही थी।

पुलिस के मुताबिक, आरोपी की पहचान लक्ष्य के तौर पर हुई है। जो दक्षिणी दिल्ली के देवली इलाके का रहने वाला है। लक्ष्य को पीड़ित के पिता ने काम पर रखा था। पुलिस ने बताया कि आरोपी नौजवान अपराध करने के बाद से लगातार भाग रहा था। लेकिन पुलिस ने उसे 26 अप्रैल को मुंबई से गिरफ्तार कर लिया।

आपको बता दें कि गौरव पेशे से जिम ट्रेनर था। उसकी शादी होने वाली थी। लेकिन शादी से ठीक एक दिन पहले 7 मार्च को साउथ दिल्ली के तिगरी इलाके में आरोपियों ने लोहे की रॉड और कैंची से गौरव पर हमला किया था। जिसकी वजह से वो गंभीर रूप से घायल हो गया था। हमले के बाद उसे फौरन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।

पुलिस उपायुक्त (अपराध) अमित गोयल ने इस मामले के बारे में जानकारी देते हुए पीटीआई को बताया कि जांच के दौरान पता चला कि गौरव के कत्ल की साजिश खुद उसके पिता ने रची थी। वही इस हत्याकांड के मुख्य साजिशकर्ता थे।

गौरव के पिता ने संपत्ति विवाद के चलते अपने बेटे को मारने की योजना बनाई थी। और इस साजिश में लक्ष्य, साहिल और अभिषेक नाम के तीन लड़कों को शामिल किया था। डीसीपी (क्राइम) के मुताबिक, लक्ष्य की गिरफ्तारी के साथ ही इस हत्याकांड के सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

डीसीपी ने बताया कि उन्हें सूचना मिली कि वांछित अपराधी लक्ष्य मुंबई में कहीं छिपा हुआ है। बाद में पता चला कि लक्ष्य मुंबई से दिल्ली आ रहा है और अपनी बहन से मिलेगा। 26 अप्रैल को एक अस्पताल के पास जाल बिछाया गया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

डीसीपी ने कहा कि पूछताछ में लक्ष्य ने खुलासा किया है कि पीड़ित के पिता ने उसे अपने बेटे को मारने के लिए 75,000 रुपये देने की पेशकश की थी। इसके बाद लक्ष्य, साहिल और अभिषेक ने 6 और 7 मार्च की दरम्यानी रात गौरव की बेरहमी से हत्या कर दी थी।

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे