Thursday, February 9, 2023
spot_imgspot_img
Homeधर्मDevuthani Ekadashi : देवउठनी एकादशी व्रत पारण से पहले जरूर कर लें...

Devuthani Ekadashi : देवउठनी एकादशी व्रत पारण से पहले जरूर कर लें ये काम, हर मनोकामना होगी पूरी

spot_imgspot_img

devuthani ekadashi vrat parana time shubh muhrat : हिंदू धर्म में एकादशी का बहुत अधिक महत्व होता है। कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को देवउठनी एकादशी के नाम से जाना जाता है।

हिंदू धर्म में एकादशी का बहुत अधिक महत्व होता है। कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को देवउठनी एकादशी के नाम से जाना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार एकादशी व्रत रखने से भगवान विष्णु की विशेष कृपा प्राप्त होती है और मृत्यु के पश्चात मोक्ष की प्राप्ति होती है। हर माह में दो बार एकादशी पड़ती है। एक शुक्ल पक्ष में और एक कृष्ण पक्ष में। एकादशी व्रत में भगवान विष्णु की विशेष पूजा- अर्चना की जाती है। एकादशी व्रत का पारण अगले दिन किया जाता है। आज 4 नवंबर को देवउठनी एकादशी व्रत है और अगले दिन यानी कल 5 नवंबर को व्रत का पारण किया जाएगा। एकादशी व्रत के पारण से पहले व्रती को एकादशी व्रत कथा का पाठ जरूर करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि व्रत कथा का पाठ करने से भगवान विष्णु की कृपा से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं और मृत्यु के पश्चात मोक्ष की प्राप्ति होती है और समस्त पापों से मुक्ति मिलती है

व्रत पारणा टाइम-  

  • पारण (व्रत तोड़ने का) समय – 5 नवंबर, 06:27 ए एम से 08:39 ए एम
  • पारण तिथि के दिन द्वादशी समाप्त होने का समय – 05:06 पी एम
  • देवउठनी एकादशी व्रत कथा…
  • एक राजा के राज्य में सभी लोग एकादशी का व्रत रखते थे। प्रजा तथा नौकर-चाकरों से लेकर पशुओं तक को एकादशी के दिन अन्न नहीं दिया जाता था। एक दिन किसी दूसरे राज्य का एक व्यक्ति राजा के पास आकर बोला महाराज! कृपा करके मुझे नौकरी पर रख लें। तब राजा ने उसके सामने एक शर्त रखी कि ठीक है रख लेते हैं। किन्तु रोज तो तुम्हें खाने को सब कुछ मिलेगा पर एकादशी को अन्न नहीं मिलेगा।
spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments