Friday, April 19, 2024

आखिर कैसे है कृष्णनगरी? जाने Dwarka की कहानी

- Advertisement -

तनिशा भारद्वाज

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

5000 वर्ष पूर्व भगवान कृष्ण ने गुजरात में Dwarka नगरी की स्थापना की थी। जिस स्थान पर उनका निजी महल था वह स्थान अब एक मंदिर है। कृष्ण भक्तों की दृष्टि में यह एक महान तीर्थ है। देश के पवित्र धामों में से एक है Dwarka नगरी। Dwarka नगरी भी दुनिया के सबसे पवित्र स्थानों में से एक है। मंदिर का वर्तमान स्वरूप 16वीं शताब्दी में प्राप्त हुआ था। द्वारकाधीश मंदिर के गर्भगृह में चांदी के सिंहासन पर भगवान कृष्ण की श्यामवर्णी चतुर्भुज प्रतिमा विराजमान है। यहां उन्हें ‘रणछोड़जी’ भी कहा जाता है। भगवान हाथ में शंख, चक्र, गदा और कमल लिए हुए हैं। बहुमूल्य आभूषणों और सुंदर वेशभूषा से श्रृंगार की गई प्रतिमा सभी को आकर्षित करती है। मथुरा से निकलकर भगवान श्रीकृष्ण ने Dwarka क्षेत्र में पहले से स्थापित खंडहर बने नगर में एक नया नगर बसाया। ऐसा कहा जा सकता है कि भगवान कृष्ण ने अपने पूर्वजों की भूमि को फिर से रहने लायक बनाया था.

Dwarka वो शहर है ,जो इतिहास, धार्मिकता, और सांस्कृतिक विरासत से भरपूर है। जो यहाँ जाता है उसका मन द्वारका में समा जाता है.इस प्राचीन शहर के दिल की गहराईयों में एक अलग सा दृश्य महसूस कराता है, द्वारका समृद्ध अतीत, जीवंत वर्तमान, और उज्जवल भविष्य के अनुभवों को दर्शाता है. Dwarka के पुराने किस्से और ऐतिहासिक महत्व को खोजें, जो भगवान कृष्ण के पौराणिक राज्य के रूप में माना जाता है। हजारों वर्षों पुरानी Dwarka के अध्ययन से संबंधित भौगोलिक धरोहर का अन्वेषण है, जो यहां पर पूर्वजों की शानदार सभ्यता को प्रकट करता है.

अगर हम आध्यात्मिक अभियान पर उतरें जब आप द्वारकाधीश मंदिर, रुक्मिणी देवी मंदिर, और नागेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर के पवित्र स्थानों की यात्रा करते हैं। इन पवित्र स्थलों में दिव्य प्रासंगिकता को महसूस करते है और पूजा वातावरण में डूब जाएं, जो हर साल लाखों श्रद्धालुओं को आकर्षित करते हैं. अगर बात कर्रे सांस्कृतिक महोत्सव की तो Dwarka की जीवंत संस्कृति में खो जाएंगे और रंगीन त्योहारों, गरबा और रास जैसी पारंपरिक नृत्य रूपों, और गुजराती व्यंजनों के आप भी दीवाने हो Dwarka को कृष्ण की नगरी कहा जाता है।

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे