Thursday, February 9, 2023
spot_imgspot_img
HomeNationalपहले चैटिंग फिर न्यूड वीडियो कॉल; पैसे नहीं देने पर सुसाइड तक...

पहले चैटिंग फिर न्यूड वीडियो कॉल; पैसे नहीं देने पर सुसाइड तक को कर देते हैं मजबूर

spot_imgspot_img

सितंबर 2022…एक के बाद एक पुणे शहर में दो सुसाइड होते हैं। 28 सितंबर को 19 साल का बीकॉम सेकेंड ईयर स्टूडेंट सुसाइड कर लेता है। पिपरी चिचवड में 34 साल के युवक फंदे पर लटक जाता है। पुलिस ने मामले की जांच की तो दोनों सुसाइड के तार राजस्थान के अलवर जिले के गोठड़ी गुरु गांव से जुड़े हुए निकले। ये वो गांव है, जहां लड़कियां सेक्सटॉर्शन का रैकेट चला रही हैं।

पुलिस की जांच में सामने आया कि सोशल मीडिया के जरिए पहले जान-पहचान बढ़ाई फिर चैटिंग शुरू की। इसके बाद इन दोनों का पहले अश्लील वीडियो बनाया गया और इसके बाद इन्हें ब्लैकमेल किया गया। बदनामी का इतना डर दिखाया कि दोनों ने सुसाइड करने की सोच ली। मामले में पुणे के दत्तावाड़ा पुलिस ने 32 साल के अनवर खान को करीब दो महीने बार गिरफ्तार किया।

पुलिस ने जब आरोपी अनवर से पूछताछ की तो उसने कई खुलासे किए। उसने पुलिस से कहा कि गांव के कई पुरुष और महिलाएं सेक्सटॉर्शन रैकेट में शामिल हैं।

आरोपी का घर जिसे महज 2 साल में बनाया गया है

अलवर के लक्ष्मणगढ़ से करीब 13 KM दूर ये गाेठड़ी गुरु गांव है। टीम ने करीब 10 लोगों से आरोपी अनवर के घर का पता पूछा, लेकिन कोई बताने को तैयार नहीं हुआ। किसी तरह हम अनवर के घर तक पहुंचे। जांच में पता चला कि 1 बीघा में ये आलीशान घर 2-3 साल पहले ही बना। अचानक अनवर की पूरी लाइफ स्टाइल बदल गई और उसके पास बहुत से पैसे आ गए।

1 बीघा जमीन पर बना मकान

टीम अनवर के घर के बाहर पहुंची तो एक महिला दिखी। अंदर आने से मना कर दिया। आस-पास के लोगों से बात की तो पता चला अनवर ने घर में ही ऑफिस बना रखा है। इसी ऑफिस में वो कॉल सेंटर चलाता है यानी सेक्सटॉर्शन का रैकेट। गांव की महिलाओं ने बताया कि जिस दिन पुलिस आई उसके बाद से दो भाई फरार हो गए थे। ग्रामीणों ने बताया कि यहां कई युवक-युवतियां आते थे। अब पुलिस की रेड के बाद घर में महिलाओं के अलावा कोई नहीं मिला।

इसी बीच अनवर की मां आई और बोली कि उसका बेटा खेत में पानी दे रहा था। पुलिस ने आते ही पकड़ लिया। बाकी लड़के भी इधर-उधर चले गए थे। यह भी कहा कि उनके पीछे पूरा गांव लगा हुआ है, जबकि वे चौखट बनाने का काम करते हैं। बेटों के बारे में बोली वे अपने काम से गए हुए हैं। यहां कोई नहीं है।

लड़कियों को देते हैं ट्रेनिंग

गांव के लोगों ने बताया कि दो-तीन साल पहले यहां कुछ नहीं था। सभी सामान्य परिवार थे लेकिन इसके बाद गांव में सबकुछ बदल गया। यहां अक्सर लड़कियां आती जाती थी। सामने आया कि यहां घर के ऊपर बने ऑफिस में सेक्सटॉर्शन के लिए लड़कियों काे ट्रेनिंग दी जाती है। उन्हें सिखाया जाता है कि कैसे लड़कों को फंसाया जाए। इसके बाद जब न्यूड वीडियो बना लिया जाता है तो शुरू होता है ब्लैकमेलिंग का काम।

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments