Wednesday, May 29, 2024

Hyderabad Lok Sabha Seat : हैदराबाद लोकसभा सीट का कैसा रहा इतिहास

- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

ईशा दुबे

Hyderabad Lok Sabha Seat: हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व विभिन्न सांसदों ने किया है। जिनमें अहमद मोहिउद्दीन, विनायक राव कोरटकर, गोपालिया सुब्बुकृष्ण मेलकोटे, सुल्तान सलाहुद्दीन ओवैसी और उनके बेटे असदुद्दीन ओवैसी शामिल हैं।

BJP के वेंकैया नायडू ने एक बार 1996 में हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा था, लेकिन वह असदुद्दीन ओवैसी के पिता सुल्तान सलाहुद्दीन ओवैसी से 73,273 वोटों के अंतर से हार गए थे।

हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र की लगभग 65 प्रतिशत आबादी अल्पसंख्यकों, मुख्य रूप से मुस्लिमों की है। हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र के अलावा राजधानी हैदराबाद और उसके आसपास चार अन्य लोकसभा क्षेत्र हैं, जिसमें मल्काजगिरि, सिकंदराबाद, चेवेल्ला और मेडक है।

तेलंगाना की हैदराबाद लोकसभा सीट एक ऐसी सीट है, जिस पर न तो BRS (भारत राष्ट्र समिति), न ही कांग्रेस और न ही BJP की दाल गलती है। यहां सिर्फ और सिर्फ AIMIM (All India Majlis-e-Ittehadul Muslimeen) चीफ असदुद्दीन ओवैसी का ही सिक्का चलता है।

2004 के लोकसभा चुनाव से ही यह सीट उनके पास हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने हैदराबाद लोकसभा सीट से लगातार चौथी बार जीत दर्ज की थी। उन्होंने BJP प्रत्याशी भगवंत राव को 2.82 लाख वोटों के अंतर से हराया था. 2024 में भी असदुद्दीन ओवैसी हैदराबाद लोकसभा सीट से चुनावी ताल ठोंक सकते हैं।

मूसा नदी के किनारे स्थित है हैदराबाद

हैदराबाद लोकसभा सीट (Hyderabad Lok Sabha seat) तेलंगाना राज्य के 17 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में से एक है. हैदराबाद तेलंगाना के प्रमुख शहरों में एक है. यह तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की संयुक्त राजधानी भी है. यह क्षेत्र मूसी नदी के किनारे स्थित है.

ऐतिहासिक रूप से हैदराबाद बेहद महत्वपूर्ण शहर है. कुतुबशाही वंश के शासकों ने इस शहर को अपनी राजधानी बनाया था। हैदराबाद को निजाम का शहर और मोतियों का शहर भी कहा जाता है।

दुनिया की सबसे बड़ी ‘फिल्म सिटी’ भी यहीं

यह देश के विकसित शहरों में से एक है। इसे आईटी सेक्टर का हब भी कहा जाता है। यही नहीं यहां दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म सिटी माने जाने वाली ‘रामोजी फिल्म सिटी’ भी मौजूद है. इसी फिल्म सिटी में ‘बाहुबली’ फिल्म की शुटिंग हुई थी। हैदराबाद लजीज खाने के लिए भी मशहूर है. यहां की मशहूर बिरयानी को पूरे देश में ‘हैदराबादी बिरयानी’ के नाम से जाना जाता है।

हैदराबाद में मुख्य आकर्षण का केंद्र चारमीनार, हुसैन सागर झील, बिड़ला मंदिर, सालार जंग संग्रहालय आदि हैं. हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र को देश के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों के लिए भी जाना जाता है. यहां हैदराबाद यूनिवर्सिटी, मौलाना आजाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय स्थित हैं. यह क्षेत्र देश की राजधानी दिल्ली से करीब 1,585 किलोमीटर दूर है.

1984 से AIMIM का गढ़ बना हुआ है हैदराबाद

हैदराबाद लोकसभा सीट परपंरागत रूप से AIMIM का गढ़ है, जिसने मुस्लिम बाहुल्य इस लोकसभा क्षेत्र में 1984 से अपनी पकड़ मजबूत बनाए रखी है. इस सीट पर असदुद्दीन के पिता सुल्तान सलाहुद्दीन ओवैसी लगातार 6 बार चुनाव जीते थे.

इस लोकसभा क्षेत्र में मुस्लिम मतदाताओं की संख्या सर्वाधिक है. यही एक प्रमुख कारण है कि यहां AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी चार बार से एकतरफा जीत हासिल करते आ रहे हैं. हैदराबाद की जनसंख्या करीब 21 लाख 84 हजार 467 है, जिसमें से तीन प्रतिशत लोग SC वर्ग के हैं.

हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र में कितनी विधानसभा सीटें

हैदराबाद लोकसभा सीट में वर्तमान में सात विधानसभा क्षेत्र आते हैं, जिसमें मलकपेट, कारवां, गोशामहल, चारमीनार, चंद्रयानगुट्टा, याकूतपुरा और बहादुरपुरा हैं. कुल 9,45,277 पुरुष वोटर हैं. महिला वोटरों की संख्या 10,12,522 है.

2019 में कुल वोटरों की संख्या 8,77,872 थी, जिनमें से कुल पुरुष मतदाता 4,79,564 और महिला मतदाता 3,97,698 थीं. 2019 में इस सीट पर मतदान प्रतिशत 44.84% था. AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी को कुल 5 लाख 17 हजार 471 वोट मिले थे.

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे