Saturday, July 13, 2024

Arvind Kejriwal के जेल जाने से क्या bjp को मिलेगा फायदा

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

आतिफा शेख

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

नायक फिल्म तो आप सब ने जरूर देखा होगा जिसमें अनिल कपूर को एक दिन के लिए मुख्यमंत्री बनाया जाता है और उस एक दिन में पूरा सियासी खेल हो जाता है , मानो पूरा सिस्टम ही हिला जाता है और हर भ्रष्टाचारी को सबक सिखाया जाता है जिससे देख कर पब्लिक सिटी बजा देते है और देश में ऐसी सरकार चाहते है लेकिन फिल्मो की दुनिया आम दुनिया से काफी अलग मानी जाती है लेकिन आज कल देश में बिल्कुल ऐसा ही हो रहा है जब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को शराब घोटाला करने के आरोप में ED ने गिरफ्तार किया है। इसे कुछ लोग राजनीती का नाम दे रहे है तो वही कुछ केजरीवाल (Kejriwal) को जबरन फसाया जाने का आरोप लगा रहे है | अब सवाल यह है की BJP को इससे क्या फ़ायदा है

अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद विपक्ष गठबंधन भाजपा पर हमलावर है. राहुल गांधी, शरद पवार जैसे कई विपक्षी नेताओं ने सरकार पर निशाना साधा है। आम आदमी पार्टी आज दिल्ली में प्रोटेस्ट कर रही है.. गिरफ्तारी के बावजूद AAP कह रही है कि केजरीवाल जेल से ही सरकार चलाएंगे।

दरअसल, AAP का लोकसभा चुनाव (lok sabha election 2024) प्रचार पूरी तरह केजरीवाल पर निर्भर है. पार्टी को उम्मीद है कि उसे जनता की सहानुभूति और वोट दोनों मिलेंगे. हालांकि भाजपा आत्मविश्वासी दिख रही है. ऐसे में आपके मन में सवाल उठ सकते हैं कि भाजपा के खुश होने की वजह क्या है? वह कल रात से ही कांग्रेस नेताओं के पुराने बयान शेयर कर दिल्ली के मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी को उचित ठहरा रही है।

राजधानी दिल्ली और पंजाब में जिस पार्टी की सरकार हो, उसके सबसे बड़े नेता की गिरफ्तारी चुनाव से ठीक पहले होती है, इसके बावजूद भगवा दल confident कैसे है , क्या इसका नकारात्मक असर नहीं होगा. क्योंकि एक तबका और राजनीतिक मामलों की समझ रखने वाले कुछ लोग मानकर चल रहे हैं कि विपक्ष एकजुट होकर चुनाव में विरोधी नेताओं की गिरफ्तारी को बड़ा मुद्दा बना सकता है. एक दिन पहले ही कांग्रेस ने अकाउंट फ्रीज किए जाने को लेकर भाजपा पर हमला बोला था. और अब अरविंद केजरीवाल के गिरफ्तारी से bjp खुश है |

मनोज तिवारी ( Manoj Tiwari) ने भी अरविंद केजरीवाल को धोखेबाज कहा जिसमें वह कह रहे हैं, “अरविंद केजरीवाल जी के मामले में आखिरकार वही हुआ जो अपराध और भ्रष्टाचार के मामले में होता है। भ्रष्टाचारी चाहे कितनी भी चालाकियां कर ले, वो कानून के शिकंजे में आता ही आता है। आपको बता दें कल 21 मार्च को तलाशी और पूछताछ के बाद जांच एजेंसी ने केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को केंद्रीय जांच एजेंसी ED ने गिरफ्तार किया है. गुरुवार देर शाम ईडी की टीम भारी फोर्स के साथ केजरीवाल के घर पहुंची थी. यहां तलाशी और पूछताछ के बाद जांच एजेंसी ने केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया। यह पहला ऐसा मामला है जब कोई मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए गिरफ्तार हुआ है. ऐसे में सवाल उठता है कि अब दिल्ली में आम आमदी पार्टी की सरकार का क्या होगा ? यानी कौन सरकार चलाएगा. इसको लेकर आम आमदी पार्टी का clear stand है कि अरविंद केजरीवाल जेल से ही सरकार चलाएंगे। यानी वह पद से इस्तीफा नहीं देंगे.

दरअसल, 2 नवंबर से 21 मार्च के बीच ED ने अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के लिए 9 समन भेजे थे. लेकिन केजरीवाल कोई ना कोई बहाना बनाकर ED के सामने पेश नहीं हो रहे थे. वहीं जब उन्हें 9वां समन मिला तो वह इसके खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचे थे. उनके द्वारा हाईकोर्ट में एक याचिका दायर कर मांग की गई थी कि अगर वह पूछताछ के लिए ED के सामने पेश होते हैं तो उन्हें गिरफ्तारी से सुरक्षा दी जाए. हालांकि हाईकोर्ट से केजरीवाल को राहत नहीं मिली. अब गिरफ्तारी के खिलाफ आम आदमी पार्टी सुप्रीम कोर्ट पहुंची है. 21 मार्च की तारीख इतिहास के पन्नों पर दर्ज की जाएगी। क्योंकि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद 21 मार्च को गिरफ्तार हुए है और उनकी गिरफ़्तारी यह बता रही है और एक सबूत भी पेश कर रही है अरविंद केजरीवाल हो यह फिर कोई भी मंत्री किसी भी पद पे हो गलत करने वालो को माफ़ नहीं किया जिएगा।

 

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights