Monday, December 5, 2022
spot_imgspot_img
Homeinternational newsनैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद पहली बार अमेरिका ने भेजे...

नैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद पहली बार अमेरिका ने भेजे दो युद्धपोत, भड़का चीन

spot_imgspot_img

अमेरिकी हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद पहली बार अमेरिका ने भी अपने युद्धपोत ताइवान के समंदर में भेजे हैं। वहीं चीन ने कहा है कि इन युद्धपोतों पर नजर रखी जा रही है।

ताइवान को लेकर चीन और अमेरिका में तनाव के बीच पहली बार अमेरिकी  युद्धपोत ने ड्रैगन को ‘चेतावनी’ दी है। नैन्सी पेलोसी के दौरे के बाद चीन ने अप्रत्याशित रूप से ताइवान के करीब युद्धाभ्यास किया था। अब अमेरिका ने भी अपने दो मिसाइल डिस्ट्रॉयर यूएसएस एंटिएटम और यूएसएस चांसलर्सविले ताइवान के समंदर में भेज दिए। अमेरिकी सेना की तरफ से कहा गया है कि यह एक रूटीन ट्रांजिट है। 

अमेरिका के बयान में कहा गया, दोनों ही युद्धपोत 28 अगस्त से ताइवान के समंदर में रूटीन ट्रांजिट कर रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय नियमों का किसी भी तरह उल्लंघन नहीं किया जा रहा है। वहीं चीन ने भी इन युद्धपोतों को ट्रैक किया और फिर कहा, हम किसी भी तरह की कार्रवाई के लिए तैयार हैं। पीएलए के ईस्टर्न थिएटर कमांड ने कहा, अमेरिकी युद्धपोतों के गुजरने पर नजदीक से नजर रखी जा रही है। हर गतिविधि हमारे नियंत्रण में है। 

बीजिंग ने कहा कि पीएलए ईस्टर्न थिएटर कमांड के सैनिक हर समय तैयार रहते हैं और किसी भी हरकत का जवाब देने में सक्षम हैं। बता दें कि अमेरिकी हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद चीन और अमेरिका के बीच तनाव चरम पर है। चीन ताइवान पर दावा करता है। पेलोसी के दौरे से पहले भी वह लगातार अमेरिका को धमकी दे रहा था। 

बता दें कि पेलोसी के दौरे के बाद अमेरिका के पांच और सांसद ताइवान पहुंचे थे। इस दौरान भी चीन ने समंदर में अपनी सेना को तैनात कर दिया था। वहीं अमेरिका के इन युद्धपोतों का भेजा जाना यही दिखाता है कि यूएस संवतंत्र हिंद-प्रशांत क्षेत्र का संदेश देना चाहता है। 

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments