Thursday, July 25, 2024

Jagdeep Dhankhar ने विश्व सिकल सेल दिवस-2024 का किया शुभारंभ

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

उप राष्ट्रपति श्री Jagdeep Dhankhar ने कहा कि हर्बल पार्क की स्थापना में उप राष्ट्रपति भवन में डिंडोरी का एक खास योगदान रहेगा। औषधीय वनस्पति की उपलब्धता और जैव विविधिता को डिंडोरी में देखते हुए सिकल सेल एनीमिया के साथ ही बाकि बीमारियों के उपचार पर रिसर्च का जो कार्य होगा उसे तेजी के साथ बढ़ाना चाहिए। ताकि इससे डिंडोरी का नाम देश के साथ-साथ विदेश में भी प्रसिद्ध हो जाए।

jagdeep

इसे समाजसेवियों, शोधकर्ताओं के प्रयासों से सामाजिक आंदोलन बनाना होगा। मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव व राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल के नेतृत्व में आर्थिक, सांस्कृतिक और सामाजिक क्षेत्र में लगातार देश के अग्रणी राज्यों में प्रगति करते हुए शामिल होगा। आपको बतादें कि राज्य स्तरीय कार्यक्रम विश्व सिकल सेल दिवस-2024 कार्यक्रम को डिण्डौरी में उप राष्ट्रपति श्री Jagdeep Dhankhar संबोधित कर रहे थे। जिसमें अतिथियों का उप मुख्यमंत्री श्री शुक्ल ने स्वागत किया साथ ही प्रदेश में सिकल सेल एनीमिया उन्मूलन के लिए संचालित गतिविधियों की जानकारी भी दी। शासकीय चन्द्रविजय महाविद्यालय डिण्डौरी में उप राष्ट्रपति श्री Jagdeep Dhankhar ने दीप प्रज्वलित करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

भारत के इतिहास में श्रीमती द्रोपदी मुर्मु का राष्ट्रपति बनना स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जायेगा

उप राष्ट्रपति श्री Jagdeep Dhankhar ने कहा कि सामाजिक और भारतीय सांस्कृतिक परिवेश में जनजातियों का बहुत ज्यादा महत्व है। ऐसे में भारतीय इतिहास में श्रीमती द्रोपदी मुर्मु का राष्ट्रपति बनना स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जायेगा। आगे उन्होंने कहा कि, भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में प्रगति कर रही है। कनाडा, ब्राजील, फ्रांस और इंग्लेंड आदि जैसे देशों से आर्थिक परिदृश्य में भारत आगे है। और जापान व जर्मनी से भी हम बहुत जल्द इस क्रम में आगे निकलेंगे।

राज्य और केंद्र सरकार मिलकर सिकल सेल एनीमिया को खत्म करने में लगातार जुटी है

राज्यपाल श्री पटेल ने बताया कि जनजातियों की जनसंख्या मध्यप्रदेश में 1 करोड़ 90 लाख है। और 55 लाख से ज्यादा लोगों की जांच अब तक की गई है, जिनमें से सिकल सेल एनीमिया के 1 लाख 20 हजार 935 लोग शिकार हैं और 18 हजार से ज्यादा लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। दरअसल, यह बीमारी अनुवांशिक है और ये ऐसी बीमारी है जो आने वाली पीढ़ियों को भी प्रभावित कर सकती है। बतादें कि इसके निवारण के लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी ने बजट में 15 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। वहीं केंद्र और राज्य सरकार मिलकर सिकल सेल एनीमिया को खत्म करने के प्रयास में जुटी हैं। जनजातीय समुदाय में राज्यपाल श्री पटेल ने जागरूकता बढ़ाने और इस बीमारी से बचाव के उपायों पर जोर दिया है।

सिकल सेल उन्मूलन का यज्ञ हो चुका है आरंभ

उप राष्ट्रपति श्री Jagdeep Dhankhar ने कहा कि इस आशय की घोषणा प्रधानमंत्री श्री मोदी ने शहडोल जिले से जुलाई 2023 में की और राष्ट्रीय सिकल सेल एनीमिया उन्मूलन मिशन-2047 का शुभारंभ भी किया। आपको बतादें कि एक पहल की शुरुआत सिकल सेल एनीमिया के उन्मूलन के लिए हो चुकी है। इसके अलावा उप राष्ट्रपति श्री Jagdeep Dhankhar ने बताया कि इस पहल की घोषणा जुलाई 2023 में शहडोल जिले से हुई थी और ‘राष्ट्रीय सिकल सेल एनीमिया उन्मूलन मिशन-2047’ इसे कहा गया है।

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights