Tuesday, October 4, 2022
spot_imgspot_img
HomeCorona Newsबूस्टर डोज के तौर बायोलॉजिकल ई की कोर्बेवैक्स वैक्सीन को DCGI की...

बूस्टर डोज के तौर बायोलॉजिकल ई की कोर्बेवैक्स वैक्सीन को DCGI की मंजूरी…

spot_imgspot_img

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) कोर्बेवैक्स वैक्सीन को बूस्टर डोज के तौर पर मंजूरी दे दी है। पिछले साल दिसंबर में कोर्बेवैक्स को व्यस्कों के लिए सिमित उपयोग के लिए मंजूरी दी गई थी।

डीसीजीआई ने कोर्बेवैक्स को कोरोना की बूस्टर खुराक के रूप लगाने की अनुमति दे दी है।  बॉयोलॉजिकल ई लिमिटेड ने इसकी घोषणा की है। इससे पहले डीसीजीआई ने पिछले साल 28 दिसंबर को वयस्कों को आपातकालीन स्थितियों में सीमित उपयोग के लिए इस वैक्सीन को लगाने की अनुमति दी थी। 

इसके बाद 9 मार्च को कुछ शर्तों के साथ डीजीसीए ने 12 से 17 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों को कोर्बेवैक्स वैक्सीन लगाने की मंजूरी दी थी। हाल ही में बायोलॉजिकल ई लिमिटेड ने डीसीजीआई को अपने रिसर्च का विस्तृत डाटा सौंपा था। एक्सपर्ट कमेटी द्वारा इसपर विस्तृत चर्चा और परीक्षण के बाद फैसला किया गया गया कि कोर्बेवैक्स को बूस्टर डोज के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। जिन लोगों को कोवैक्सीन या कोविडशील्ड लगी है वो लोग भी बूस्टर डोज के तौर पर कोर्बेवैक्स वैक्सीन ले सकते हैं।

बायोलॉजिकल ई लिमिटेड के मुताबिक भारत में अबतक बच्चों को कॉर्बेवैक्स की 51.7 मिलियन खुराक दी जा चुकी है। कंपनी के मुताबिक 17.4 मिलियन बच्चों को कॉर्बेवैक्स की दोनों डोज लग चुकी है। गौरतलब है कि इस साल अप्रैल में DCGI ने 5 से 12 तक के बच्चों के लिए जैविक E के Covid-19 वैक्सीन Corbevax के  आपातकालीन उपयोग की सिफारिश की थी।

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments