Friday, June 14, 2024

America में भारतीय छात्रों की रहस्यमयी मौत की क्या है वजह, सामने आई सनसनीखेज रिपोर्ट

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

America में लगातार हो रही भारतीय छात्रों की मौतों ने लोगों के दिल में भारी दहशत पैदा कर दी है। हालाकि भारत America के सामने इस मुद्दे पर अपनी चिंता भी जाहिर कर चुका है। मगर भारतीय छात्रों के एक के बाद एक मौत होने का जो यह सिलसिला है वो नहीं थम रहा है। अब इस पूरे मामले पर एक बड़ा खुलासा हुआ है, जिसमे छात्रों की मौत की वजह बताने वाली जो रिपोर्ट है वो सामने आई है, जो आपको भी हैरान कर देगी।

एक रिपोर्ट ने यह दावा किया गया है कि ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ गेम भारतीय छात्रों की मौत की वजह बन सकती है। ब्लू व्हेल चैलेंज गेम नाम जानकर आपको लग रहा होगा कि यह कोई कोई समुद्री ब्लू व्हेल मछली है, जो इन भारतीय छात्रों को अपना निवाला बना रही होगी, मगर ऐसा कुछ भी नही है. ब्लू व्हेल कोई समुद्री मछली नहीं है, जिसके बारे में आप सोच रहे हैं, बल्कि यह ब्लू व्हेल चैलेंज एक ऑनलाइन गेम है, जिसमें खेलते- खेलते जिंदगी चुनौती बन जाती है और अंत मे जिंदगी को ले डूबती है.

क्या होता है ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ गेम

‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ एक ऑनलाइन गेम है. इस गेम मे कई सारे लेवल होते हैं जैसे-जैसे लेवल पार होता जाता है, वैसे-वैसे गेम और अधिक कठिन होता जाता है. इस गेम की शुरूआत में काफी आसान टास्क दिया जाता है, जैसे जैसे गेम का लेवल बढ़ता जाता है धीरे-धीरे टास्क खतरनाक दिशा में मुड़ने लगता है। प्रतिभागियों को और भी खतरनाक टास्क को अंजाम देने के लिए कहा जाता है और 50 लेवल पार करने के बाद गेम और अधिक कठिन हो जाता है। साथ ही अंतिम चरण में गेम खुद को नुकसान पहुंचाने के साथ आत्महत्या के लिए उकसाने वाला बन जाता है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, ये खतरनाक ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ गेम की शुरूआत रूस में हुई थी, लेकिन फिर ये फैलते हुए यूक्रेन, America और भारत जैसे देशों में भी फैल गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, America, रूस और यूक्रेन में इस गेम को खेलते हुए सैकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है।

आत्महत्या के रूप में की जा रही मामले की जांच

ब्रिस्टल काउंटी डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी के प्रवक्ता ग्रेग मिलियोट ने कहा कि मामले की जांच “स्पष्ट आत्महत्या” के रूप में की जा रही है। उनकी मौत को व्यापक रूप से एक हत्या के रूप में रिपोर्ट किया गया था, जिसमें उन्हें बोस्टन विश्वविद्यालय में नामांकित के रूप में गलत पहचान दी गई थी। कहा गया कि उसे लूट लिया गया था और उसका शव जंगल में एक कार में पाया गया था। बोस्टन ग्लोब अखबार ने बाद में छात्र की पहचान नाम से की।

भारत सरकार 2017 में इस गेम को आत्महत्या के लिए उकसाने वाला बताया था

भारत सरकार वर्षों पहले इस खेल पर प्रतिबंध लगाना चाहती थी, लेकिन इसके बजाय एक अधिक विस्तृत सलाह पर विचार किया गया। आईटी मंत्रालय ने गेम के आने के एक साल बाद 2017 में जारी एक सलाह में कहा, “ब्लू व्हेल गेम (आत्महत्या गेम) आत्महत्या के लिए उकसाने वाला है। आपको बतादें कि इस गेम में छात्र की मौत के बारे में विशेष रूप से पूछे जाने पर, मिलियोट ने कहा, “हमें इस पर कोई जानकारी नहीं है। मामले की जांच स्पष्ट आत्महत्या के रूप में की जा रही है। हम मामले को बंद करने से पहले मेडिकल परीक्षक के अंतिम निष्कर्ष का इंतजार कर रहे हैं। यह घटना 22 मार्च को हुई थी।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा

सुप्रीम कोर्ट ने भी ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ को “राष्ट्रीय समस्या” बताते हुए टेलीविजन चैनलों को इस घातक गेम के बारे में जागरूकता पैदा करने में मदद करने का निर्देश दिया। केंद्र ने भी इस मुद्दे पर गौर करने के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया था।

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights