Tuesday, June 18, 2024

वैज्ञानिकों ने खोजी नई पृथ्वी “SPECULOOS-3b”, जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

खगोलविदों ने आखिरकार एक नई पृथ्वी की खोज कर ही ली, इस नए ग्रह का नाम SPECULOOS-3b है. यह बृहस्पति के आकार के एक अल्ट्राकूल बौने तारे की परिक्रमा करता है। इस नए ग्रह का नाम SPECULOOS-3b है और यह पृथ्वी के केवल 55 प्रकाश वर्ष दूर स्थित है। आपको जानकर हैरानी होगी कि ये बौना तारा हमारे सूर्य सेसौ गुना कम चमकदार है। दोगुना ठंडा,और सौ गुना कम चमकदार है।

SPECULOOS-3b, लाल बौने तारे के चारों ओर हर 17 घंटे में एक बार घूमता है, जिससे ग्रह पर एक वर्ष पृथ्वी के एक दिन से छोटा हो जाता है। यह एक्सोप्लैनेट भी संभवतः अपने तारे से “ज्वार से बंद” है, जिसका मतलब है कि इसमें एक दिन और एक रात होती है।

SPECULOOS-3b की चौकाने वाली बातें

खगोलशास्त्री माइकल गिलोन ने कहा, अपनी छोटी कक्षा के कारण, SPECULOOS-3b को पृथ्वी द्वारा सूर्य से प्राप्त ऊर्जा की तुलना में प्रति सेकंड लगभग कई गुना अधिक ऊर्जा प्राप्त होती है। “हम मानते हैं कि ग्रह समकालिक रूप से घूमता है, इसलिए एक ही पक्ष, जिसे दिन का पक्ष कहा जाता है, हमेशा तारे का सामना करता है, जैसे चंद्रमा पृथ्वी के लिए करता है। दूसरी ओर, रात का पक्ष अंतहीन अंधेरे में बंद हो जाता है।”

 एक तरफ दिन और दूसरी तरफ हमेशा रात

खगोलविद माइकल गिल्लोन का कहना है कि SPECULOOS-3b ग्रह समसमायिक रूप से रोटेट करता रहता है। इस वजह से इसकी एक साइड हमेशा सूर्य की ओर होती है। सूर्य की ओर साइड होने की वजह से इसके एक हिस्से में हमेशा दिन रहता है और दूसरी साइड की ओर हमेशा अंधेरा रहता है।

इस ग्रह का एक साल धरती के एक दिन से भी छोटा है

17 घंटे मे SPECULOOS-3b ग्रह ऑर्बिट का चक्कर लगा लेता है। इसका मतलब है कि धरती के एक दिन से भी छोटा इस ग्रह का एक साल होता है। लेकिन, यह ग्रह जिस तारे का चक्कर लगा रहा है उसका तापमान हमारे सूर्य के मुकाबले आधा है। इसके अलावा यह 10 गुना छोटा और 100 गुना कम चमकदार है। खगोल वैज्ञानिकों का कहना है कि इस ग्रह पर दिन और रात हमेशा रहती है जो कभी खत्म नहीं होते।

तारों की आयु

कम हमारी आकाशगंगा में लाल बौने तारे अत्यंत सामान्य हैं, लाल बौने तारे लंबे समय तक जीवित रहते हैं। वे हमारे आकाशगंगा के सभी तारों का लगभग 60 से 70% हिस्सा बनाते हैं। और लगभग 100 अरब वर्षों तक जीवित रहते हैं। अगर दूसरे शब्दों में कहा जाए तो ब्रह्माण्ड की वर्तमान आयु से कई गुना अधिक है।

लाल बौने तारे अध्ययन का एक दिलचस्प क्षेत्र

लाल बौने तारे खगोलविदों के लिए अध्ययन का एक दिलचस्प क्षेत्र हैं। जीवन वाले ग्रहों को खोजने के लिए लाल बैने तारे सर्वोत्तम विकल्प हैं। हालाँकि, उनके बारे में अभी भी बहुत कुछ जानकारियां है जो हम नहीं समझते हैं। हालाकि आगामी ग्रह-खोज मे लाल बौनों के बारे में हमारा ज्ञान और बढ़ सकता है।

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights