Monday, June 24, 2024

प. बंगाल में Ram Navami शोभायात्रा पर हुआ पथराव, क्या Mamata Banerjee है जिम्मेद्दार?

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

कल 17 अप्रैल को रामनवमी (Ram Navami) के पावन पर्व पर पुरे देश भर में खुशियां मनाई जा रही थी। अयोध्या में कल रामलला का सूर्य तिलक हुआ जिसे देखने के लिए लाखों की जनता उमड़ी हुई थी। लेकिन इस बीच पश्चिम बंगाल में Ram Navami की ख़ुशी मना रहे भक्तो पर आग के गोले फेके गए हैं।

जी हाँ पश्चिम बंगाल में मुर्शिदाबाद में Ram Navami जुलुस के दौरान झड़प हुई जिसमे 20 लोग घायल हो गए। जिसको लेकर अब BJP ने ममता बनर्जी(Mamata Banerjee) को घेर लिया हैं।

दरअसल बुधवार की शाम मुर्शिदाबाद के शक्तिपुर में रामनवमी पर जुलूस निकाला गया। जुलूस निकाल रहे भक्तों पर छतों पर से अचानक से पत्थर फेके जाने लगा जिसके बाद भक्तों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर अब वायरल हो रहा है।

बता दें, पत्थर बाजी के अलावां रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान विस्फोट भी हुआ जिसमे एक महिला घायल हो गई। घायल महिला को मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती किया गया है। तो ववहीं अब पुलिस मामले की जांच में जुट हुई है। हालाँकि पुलिस ने अभी तक यह स्पष्ट नहीं किया कि विस्फोट बम से हुआ या किसी अन्य कारण से धमाका हुआ था।

इस घटना की Mamata Banerjee है जिम्मेदार

यह घटना देख भारतीय जनता पार्टी (BJP) एक बार फिर ममता सरकार पर आगबबूला हो गयी है। बीजेपी का आरोप है कि मुर्शिदाबाद में हुई हिंसा के लिए ममता सरकार जिम्मेदार है। तो वहीं अभी तक ममता बनर्जी की तरफ से कोई सफाई नहीं आई है। हालांकि ममता बनर्जी ने कुछ दिन पहले ही रामनवमी पर हिंसा की आशंका जता दी थी।

दरअसल ममता बनर्जी को घेरते हुए पश्चिम बंगाल ने विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि रामनवमी जुलूस निकालने के लिए प्रशासन की अनुमति ली गई थी।

उन्होंने कहा मुर्शिदाबाद के शक्तिपुर, बेलडांगा में रामनवमी की शोभायात्रा पर हमला हुआ है। यहां तक की अधिकारी ने पुलिस पर पक्षपात का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पुलिस ने रामभक्तों पर आंसू गैस के गोले इसलिए दागे ताकि शोभायात्रा को तुरंत ख़त्म कर दिया जाए।

शुभेंदु अधिकारी ने ट्वीट कर ममता पर साधा निशाना

शुभेंदु अधिकारी ने सोशल मीडिया X पर ट्वीट करते हुए कहा,”मुख्यमंत्री के भड़काऊ भाषण के कारण पश्चिम बंगाल राज्य में अलग अलग जगहों पर रामनवमी के जुलूसों को रोकने की कोशिश की गई और उन पर हमला किया गया। इसके लिए उपद्रवियों को सफलतापूर्वक उकसाया गया, जिन्हें आश्वासन दिया गया था कि कानून प्रवर्तन एजेंसी उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगी क्योंकि उनके हाथ बंधे हुए हैं। रामनवमी पर सीएम का सार्वजनिक रुख ये रहा कि एक दिन, जो उनके अनुसार दंगा करने का दिन है. इस संबंध में मैंने माननीय राज्यपाल को एक पत्र भी लिखा है.”

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights