Monday, June 24, 2024

Tanzania: तंजानिया में भारी बारिश और बाढ़ ने बरपाया कहर ,155 की मौत, 2 लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

Tanzania में मूसलाधार बारिश के कारण आई बाढ़ और भूस्खलन के कारण कम से कम 155 लोगों की मृत्‍यु हो गई है। 51 हजार घर क्षतिग्रस्त हुए है । सड़कें, पुल तथा रेल-संपर्क टूट गए हैं। खतरे को देखते हुए सभी स्‍कूल बंद कर दिए गए हैं। आपातकालीन सेवाएं बाढ़ से प्रभावित लोगों का बचाव कर रही हैं। संसद में प्रधानमंत्री कासिम मजालिवा ने कहा कि अलनीनो जलवायु पैटर्न ने मौजूदा बारिश के मौसम को और बदतर बना दिया है, इस कारण बाढ़ आ गई है

बाढ़ से बुरा हाल

पूर्वी अफ्रीका के कुछ हिस्सों में लोगों को भारी बारिश का सामना करना पड़ रहा है. इसकी वजह से बाढ़ जमकर तबाही मचा रही है. बताया जा रहा है कि केन्या में बाढ़ की वजह से अब तक 13 लोगों की जान जा चुकी है.

मौसम विभाग ने दी चेतावनी

मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अल नीनो के कारण इस साल बारिश बढ़ गई है. साथ ही प्राकृतिक रूप से होने वाला अल नीनो, जो 2023 के मध्य में उभरा था. आमतौर पर उसके बाद एक साल के लिए वैश्विक तापमान में वृद्धि करता है.भारी बारिश होने की संभावना

पीएम ने अस्थिर खेती के तरीके को ठहराया जिम्मेदार

पीएम मजालिवा ने कहा, “आंधी-तूफान के साथ भारी एल निनो बारिश के कारण देश के विभिन्न हिस्सों में बाढ़ और भूस्खलन देखने को मिला। इससे काफी क्षति पहुंची है।” उन्होंने बारिश के विनाशकालीन प्रभाव के लिए अस्थिर खेती के तरीके को जिम्मेदार ठहराया है। इस अस्थिर खेती के तरीकों में फसलों को काटकर जलाना, पशुओं की अनियंत्रित चराई और जंगलों की कटाई शामिल है।

बारिश के कारण 2,00000 से अधिक लोग प्रभावित

Tanzania के प्रधानमंत्री ने बताया कि भारी बारिश के कारण 51,000 घर क्षतिग्रस्त हो गए। 2,00000 से भी अधिक लोग इससे प्रभावित हुए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बाढ़ में फंसे लोगों को आपातकालीन सेवाओं के जरिए सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है। यहां के स्कूलों में भी पानी भर जाने के कारण उन्हें बंद कर दिया गया है। बाढ़ के कारण 226 लोग घायल भी हुए हैं। वहीं पूर्वी अफ्रीका में अभी भी भारी बारिश जारी है।

भारी बारिश की संभावना

वर्ल्ड वेदर एट्रिब्यूशन ग्रुप के वैज्ञानिकों ने कहा है कि अक्टूबर और दिसंबर के बीच पूर्वी अफ्रीका में बारिश अब तक दर्ज की गई सबसे तेज बारिश में से एक थी. साथ ही उन्होंने बताया कि जलवायु परिवर्तन ने भी इस घटना में योगदान दिया, जिससे भारी वर्षा दो गुना अधिक तेज हो गई.

अल नीनो का असर

अल नीनो एक प्राकृतिक रूप से होने वाली मौसमी घटना है जो बढ़ते ग्लोबल वॉर्मिंग, सूखे और भारी वर्षा के कारण होता है। पूर्वी अफ्रीका में इन दिनों सामान्य की अपेक्षा अधिक बारिश हुई है। इसके कारण पड़ोसी देश बुरुंडी और केन्या में भी जलभराव की घटना सामने आई है।

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights