Saturday, October 8, 2022
spot_imgspot_img
HomePoliticalअखिलेश से नाराज आजम के लिए क्‍या बीएसपी भी हो सकती है...

अखिलेश से नाराज आजम के लिए क्‍या बीएसपी भी हो सकती है विकल्‍प, मायावती के ट्वीट से अटकलें तेज

spot_imgspot_img

अखिलेश यादव से नाराज चल रहे आजम खान के समर्थन में मायावती के ट्वीट के बाद अटकलें तेज हो गई हैं। राजनीतिक चर्चाओं के बीच सवाल पूछा जाने लगा है कि क्‍या आजम के लिए बीएसपी भी विकल्‍प हो सकती है।

समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव से नाराज चल रहे आजम खान के लिए क्‍या बीएसपी भी एक विकल्‍प हो सकती है। गुरुवार को उनके समर्थन में मायावती के ट्वीट से यूपी के सियासी गलियारों में अटकलें तेज हो गई हैं। गौरतलब है कि पिछले दिनों जेल में आजम खान से कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता प्रमोद कृष्‍णम और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष शिवपाल यादव ने अलग-अलग मुलाकात की थी। उधर, राष्‍ट्रीय लोकदल के अध्‍यक्ष जयंत चौधरी ने भी आजम खान के घर जाकर उनकी पत्‍नी पूर्व सांसद तंजीन फातमा और बेटे सपा विधायक अब्‍दुल्‍ला आजम से मुलाकात की थी। 

जा‍हिर है यूपी की सियासत में मुस्लिम वोटों पर दावा जताने वाली पार्टियों में अचानक आजम खान की डिमांड बढ़ गई है। गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी की अध्‍यक्ष मायावती ने अपने ट्वीट में आजम के बहाने बीजेपी पर मुस्लिमों को टारगेट करने का आरोप लगाकर एक तीर से कई निशाने साधने की कोशिश की। इसके पहले मायावती, 2022 विधानसभा चुनाव में बीएसपी की करारी हार (इस चुनाव में बीएसपी सिर्फ 1 सीट जीत सकी है) का ठीकरा सपा के सिर पर फोड़ चुकी हैं। मायावती बार-बार समाजवादी पार्टी और बीजेपी के बीच मिलीभगत के आरोप लगाती हैं। इसके साथ ही वह संदेश देने की कोशिश कर रही हैं कि बीजेपी को हराने के लिए सपा के पक्ष में मुस्लिम समाज के एकतरफा वोटिंग करने से ही नुकसान हुआ है। चुनाव नतीजे आने के तुरंत बाद उन्‍होंने आरोप लगाया था कि बीजेपी को हराने के लिए सपा के पक्ष में मुस्लिमों की एकतरफा वोटिंग से हिंदू वोटों का ध्रुवीकरण हुआ जिसका सीधा फायदा बीजेपी को मिला। 

अब आजम के बहाने मायावती ने एक बार फिर संदेश देने की कोशिश की है। उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा कि-‘यूपी और अन्य बीजेपी शासित राज्यों में, कांग्रेस की ही तरह, जिस प्रकार से टारगेट करके गरीबों, दलितों, आदिवासियों और मुस्लिमों को जुल्म-ज्यादती और भय आदि का शिकार बनाकर उन्हें परेशान किया जा रहा है वो अति-दुःखद है। जबकि दूसरों के मामलों में इनकी कृपादृष्टि जारी है।’ 

आजम पर क्‍या कर रहे हैं अखिलेश 
उधर, आजम खान की गिरफ्तारी के बाद से लेकर पिछले दो साल से उनके जेल में रहने के दौरान कुछ न करने का आरोप झेल रहे सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव भी लगातार उनके समर्थन में बयान दे रहे हैं। कल सपा विधायक दारा सिंह चौहान के पैतृक आवास गेलवारा में उनकी मां को श्रद्धांजलि देने आजमगढ़ पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा था कि समाजवादी पार्टी अपने कार्यकर्ताओं के साथ है। आजम खान जल्द ही जेल से छूटेंगे। उन्‍होंने बीजेपी पर शक्ति के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए कहा था कि जब से भाजपा की सरकार बनी है, दुरुपयोग हो रहा है।  जो भी उनके खिलाफ है उसके खिलाफ मुकदमे दर्ज कराए जा रहे हैं। 

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments