Monday, August 8, 2022
spot_imgspot_img
HomeNational125 KG सोना, 257 करोड़ कैश, 500 चाबियां, इत्र कारोबारी पीयूष जैन...

125 KG सोना, 257 करोड़ कैश, 500 चाबियां, इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर अब तक और क्या-क्या मिला

spot_imgspot_img

जीएसटी विजिलेंस टीम के निशाने पर आए इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कन्नौज स्थित घर पर बरामद हुई रकम की अब गिनती शुरू हो गई है। कानपुर की ही तर्ज़ पर यहां भी एसबीआई की टीम सोमवार की सुबह नोट गिनने वाली तीन मशीन लेकर पीयूष जैन के मकान पर पहुंची है। पीयूष जैन के घर में भी दो दिन पहले उसकी खुद की ही नोट गिनने वाली एक मशीन पहले ही मिली थी। अब उन सभी मशीनों की मदद से नोट गिनने का काम शुरू हो चुका है। अभी तक  जांच अफसरों को 500 चाबियां मिलीं लेकिन ताले 109 हैं। 257 करोड़  कैश, 125 किलो सोना और अरबों की संपत्ति के दस्तावेज मिले हैं। डीजीजीआई के छापे में अभी तक करीब 1000 करोड़ रुपये की संपत्ति का खुलासा हो चुका है।

बैंक के 10 स्टाफ विजिलेंस टीम की निगरानी में सोमवार की सुबह करीब 10:30 बजे पीयूष जैन के घर पर पहुंचे। उन्हें घर के पिछले हिस्से के रास्ते से अंदर ले जाया गया है। हालांकि रकम कितनी है इसकी तस्वीर गिनती पूरी होने के बाद ही साफ हो सकेगी। पीयूष जैन के घर पहुंचे बैंक के अफसरों से जानकारी की गई तो उन्होंने पहले तो कुछ बताने से इनकार किया। लेकिन यह जरूर कहा कि शाम तक का समय लग सकता है।

कानपुर से लेकर दुबई तक प्रॉपर्टी

छापों में नकदी और गोल्ड के साथ बड़ी संख्या में प्रॉपर्टी के भी दस्तावेज मिलने शुरू हो गए हैं। अभी तक कानपुर में चार, कन्नौज में सात, मुंबई में दो, दिल्ली में एक और दुबई में दो प्रॉपर्टी सामने आई हैं। इनमें लगभग सभी संपत्तियां सर्वाधिक पॉश इलाकों में खरीदी गई हैं।

नौ बोरों में नकदी, बीस बैग में सोना

कन्नौज में पीयूष के घरों की दीवारें सोना उगल रही हैं जबकि जमीन से कैश के बंडल निकल रहे हैं। छिपट्टी स्थित उनके तिलिस्मी मकान में रविवार शाम तक 125 किलो सोना मिल चुका था। इसे लैपटॉप बैग से कुछ बड़े बीस बैगों में सीज किया गया है। नौ बोरों में नकदी भरी मिली। 50 से ज्यादा झोलों में डीजीजीआई अफसरों ने 350 फाइलें और 2700 दस्तावेजों को भरा है। कैश पीयूष के बेडरूम में बेड के अंदर से बरामद किया गया है। कमरे में ही बेड के नीचे लॉकर भी मिले हैं। 

500 चाबियां, 18 लॉकर, खोलने में छूट गए पसीने

डीजीजीआई अफसरों को कन्नौज स्थित परिसरों से 500 चाबियां मिली हैं। ताले खोलने में विजिलेंस टीम को काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। पहले चार घंटे तक चाबियों को लगाया गया लेकिन असफल रहने पर एक दर्जन कारीगरों को बुलाकर ताला तोड़ने में मदद ली गई। कारीगरों को अलग-अलग जगहों से लाया गया। जिनके ताले नहीं टूटे, उन्हें कटर से कटवाया गया।

जमीन और दीवारों में दफन राज, एक्सरे मशीन मंगानी पड़ी

पीयूष जैन के किलेनुमा घर की दीवारों को तोड़ने और जमीन की खुदाई में जांच टीम को बड़ी सफलता मिली। यही वजह है कि दो दिन से परिसरों को लगातार तोड़ा जा रहा है। अब तहखाने, दीवारें, चैंबर के नीचे गुप्त खजाने की खोज की जा रही है। टीम को अंदेशा है कि दीवारों के बीच या जमीन के नीचे तिजोरियां हैं। टीम के सूत्रों के मुताबिक कि यही हाल रहा तो पूरा घर खोदना पड़ेगा। इसे देखते हुए एक्सरे मशीन मंगाई है। साथ ही जमीन व दीवारों के पीछे कीमती चीजें खोजने के लिए पुरातत्व विशेषज्ञों की टीम की भी मदद मांगी गई है। ये टीम लखनऊ से सोमवार को कन्नौज पहुंचेगी। एक गोदाम में इत्र बनाने वाला कंपाउंड मिला है।

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments