Sunday, December 4, 2022
spot_imgspot_img
HomeStateपुलिस कांस्‍टेबल ने किए ऐसे काम, ट्रांसफर हुआ तो फूट-फूटकर रोए बच्‍चे;...

पुलिस कांस्‍टेबल ने किए ऐसे काम, ट्रांसफर हुआ तो फूट-फूटकर रोए बच्‍चे; बैंड बाजे की धुन पर पूरे गांव ने दी विदाई

spot_imgspot_img

यूपी के उन्‍नाव में कोरारीकला रेलवे स्टेशन पर तैनात जीआरपी सिपाही रोहित कुमार के कामों का ऐसा असर हुआ कि वो इलाके के हीरो बन गए। रोहित की दोस्‍ती गरीब बच्‍चों से हो गई वो भी ऐसी कि तबादला हुआ तो बच्चों के साथ गांव वाले भी रो पड़े। रोहित ने काम ही कुछ ऐसा किया था कि उनके तबादले पर जाने की खबर सुनकर हर कोई भावुक हो गया।

रोहित ने स्टेशन पर भीख मांगने वाले बच्चों को शिक्षित करने की मुहिम चला रहे थे। अपने पैसे से कॉपी, पेन ले आए और पांच बच्चों को पढ़ाना शुरू कर दिया। लॉकडाउन में भी बच्चों को पढ़ाया। यह देखकर गांव के गरीब बच्चे भी पढ़ने के लिए आने लगे। ऐसे में रोहित ने अपने खर्चे पर शिक्षक रखे। चार साल स्टेशन पर रहे रोहित का तबादला हुआ तो गांव रो पड़ा। बैंड बाजे की धुन पर उनको विदाई दी गई।

2018 जून में 2005 बैच के सिपाही रोहित का झांसी सिविल पुलिस से लखनऊ जीआरपी स्थानांतरण हो गया था। जीआरपी में आमद के बाद उन्हें उन्नाव रेलवे स्टेशन मिला था। ड्यूटी ज्वाइन करते ही उन्हें कोरारी रेलवे स्टेशन पर तैनाती दी गई। रोहित को डयूटी के दौरान कुछ बच्चे भीख मांगते दिखे। परिजनों ने स्कूल के नाम पर अनसुना कर दिया। इस पर रोहित ने बच्चों पढ़ाने संकल्प लिया और पांच बच्चों को पढ़ाने की शुरुआत की।

spot_imgspot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_imgspot_img
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments