Friday, June 14, 2024

आखिर क्या है ये Vampire Facial? जिससे तीन महिलाओं को हुआ HIV

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

न्यूज़ डेस्क : (GBN24)

(New Maxico) Vampire Facials Causes HIV: फौशन की दुनिया में इन दिनों उम्र को छिपाने के लिए मार्केट में एक से बढ़कर एक ब्यूटी प्रोडक्ट्स के अलावा तरह-तरह की कॉस्मेटिक सर्जरी कराई जा रही है. ऐसे ही चेहरे पर झुर्रियां न पड़े इसके लिए Vampire Facial किया जाता है इस फेशियल मे इंजेक्शन का इस्तेमाल किया जाता है इसे प्लेटलेट-रिच प्लाज्मा (पीआरपी) माइक्रोनीडलिंग भी कहा जाता है. न्यू मैक्सिको के एक स्पा में वैम्पायर फेशियल कराने के बाद तीन महिलाएं कथित तौर पर एचआईवी की चपेट में आ गईं.

क्या है Vampire Facial

Vampire Facialअन्य फेशियल की तरह सामान्य नही है बल्कि अन्य फेशियल से बिल्कुल हटकर है . इसे फेस पीआरपी यानी प्लेटलेट्स रिच प्लाज़मा के नाम से भी जाना जाता है. प्लेटलेट्स ग्रोथ के स्टोर हाउस कहलाते हैं और इस फेशियल में आपके ब्लड में से सीरम वाला हिस्सा जिसमें प्लेटलेट्स होते हैं निकालकर आपके फेस में छोटी-छोटी नीडल की सहायता से इंजेक्ट किया जाता है. यह कोलेजन सिंथेसिस की प्रक्रिया को बढ़ाता है साथ ही कोशिकाओं के प्रोडक्शन को तेज़ कर देता है. वैंपायर फेशियल से आपकी त्वचा कसी हुई और तरोताज़ा दिखने लगती है. पीआरपी को लगाने के लिए छोटी इंसुलिन सिरिंजेस या मेसोगन और डर्मारोलर का इस्तेमाल किया जाता है. इस प्रक्रिया के बाद चेहरे तरोताजा औऱ जवां दिखने लगते हैं

इस वजह से महिलाएं हुई थी संक्रमित

संघीय स्वास्थ्य अधिकारियों की जांच से पता चला कि मैक्सिको स्पा में “Vampire Facial” प्रक्रियाओं के बाद जिन तीन महिलाओं में एचआईवी हुआ उन महिलाओं पर किए गए कॉस्मेटिक प्रक्रिया मे एक बार इस्तेमाल की गई सुइयों को दोबारा से उन महिलाओं पर इस्तेमाल किया गया। जिसकी वजह से महिलाएं HIV से संक्रमित हुई ।

इस प्रक्रिया के बाद चेहरे दिखते हैं जवां

एल्यूर पत्रिका के अनुसार, बेवर्ली हिल्स में स्कीन विशेषज्ञ डॉ. अवा शंबन के अनुसार जब फेस से निकाले गए ब्लड को सेंट्रीफ्यूज नामक मशीन में घुमाया जाता है तो यह ब्लड तीन कैटेगरी में बंट जाता है. इसमें सबसे ऊपर प्लाज्मा, बीच में बल्ड सेल और सबसे नीचे रेड बल्ड सेल होते हैं. बीच वाला भाग जहां बल्ड सेल होता है वहां पीआरपी आती है, जिसे सीरम भी कहा जाता है. यह सीरम सेल्स की रिकवरी में मदद करता है. यह सीरम कोलेजन और इलास्टिन (चेहरे का प्रोटीन) बनाता है, जो चेहरे को चिकना बनाए रखता है.

चूंकि Vampire Facial में खुद उसी शख्स के बल्ड का इस्तेमाल किया जाता है जो इस कॉस्मेटिक सर्जरी को कराता है इसलिए इसे सबसे सुरक्षित और प्रभावी भी माना जाता है. यह भी दावा किया जाता है कि Vampire Facial से त्वचा की बनावट में सुधार हो सकता है, जिससे चेहरे की छोटी-छोटी लाइनें और झुर्रियां कम हो सकती है.

त्वचा विशेषज्ञ और निकोलसएमडी के संस्थापक डॉ. किम निकोल्स के अनुसार Vampire Facial में कम से कम छह पीआरपी इंजेक्शन की सर्जरी, जो लगभग चार सप्ताह के अंतराल पर होती है.

आपका वोट

How Is My Site?

View Results

Loading ... Loading ...
यह भी पढ़े
Advertisements
Live TV
क्रिकेट लाइव
अन्य खबरे
Verified by MonsterInsights